Delhi Liquor shop: दिल्ली में अक्टूबर महीने के बाद से निजी शराब (Private liquor shops) की दुकानों को बंद कर दिया जाएगा. बता दें किए 1 अक्टूबर से 16 नवंबर के बीच केवल केवल 47 दिन तक ही सिर्फ सरकारी दुकानों (Government liquor shop) पर ही शराब की बिक्री होगी. बता दें कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि नई अबकारी नीति के तहत दिल्ली को 32 जोन्स में बांटकर लाइसेंस आवंटन की प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया है. बता दें कि 17 नवंबर से नई आबकारी नीति के तहत शराब की दुकानों को खोला जाएगा.Also Read - तो शराब के सरकारी ठेकों पर लगेगी भीड़! सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में लाइसेंस का समय विस्तार करने से मना किया

मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह ट्रांजिशन पीरियड होगा जिसमें लोगोमं को थोड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. उनका कहना है कि सरकारी दुकानों पर बिक्री होगी तो दिक्कत नहीं आएगी. बता दें कि वर्तमान में दिल्ली में कुल 720 से ज्यादा शराब की दुकाने हैं. इनमें से 260 दुकानें निजी हैं. वहीं 460 दुकानें सरकारी हैं. इनमें से 88 दुकानें ऐसी हैं, जिनमें केवल देशी शराब की बिक्री होती है. Also Read - Delhi Liquor Shop Closed: दिल्लीवासी हो जाएं सावधान, कल से 45 दिनों के लिए बंद हो रही प्राइवेट शराब की दुकान

नई आबकारी नीति के तहत दिल्ली को 32 जोन में बांटा गया है इसी के तहत सरकार ने निजी शराब की दुकानों का जो लाइसेंस हैं उसे 30 सितंबर तक के लिए बढ़ाया है. हालांकि सरकार अब इसे जारी नहीं करने वाली है. 1 अक्टूबर से सभी 260 शराब की दुकानों को बंद कर दिया जाएगा. हालांकि 17 नवंबर से नई आबकारी नीतियों के तहत लाइसेंसधारी दुकानों को खोलेंगे. Also Read - Delhi Liquor Shops Closed: दिल्ली में 47 दिन तक नहीं मिलेगी शराब, 1 अक्टूबर से बंद रहेंगी ये दुकानें

क्या होंगे बदलाव

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि नई आबकारी नीति के तहत अब दिल्ली में शराब की दुकानों के बाहर अब भीड़ नहीं लगेगी. साथ ही कम से कम शराब की दुकान के लिए 500 वर्ग मीटर का जगह चाहिए. वहीं शारब ठेकों का काउंटर सड़क की तरफ होगा ना कि दुकान के अंदर. इससे लोगों को जांल के अंदर हाथ डालकर शराब नहीं खरीदनी पड़ेगी. कोई भी व्यक्ति दुकान के अंदर जाकर खुद शराब ले सकता है. इससे सीसीटीवी के माध्यम से उसपर निगरानी की जाएगी. वहीं शराब की दुकानों को सुबह 10 बजे से रात के 10 बजे तक खोला जाएगा.