Delhi coronavirus cases: राजधानी दिल्ली में यातायात का एक अहम साधन दिल्ली मेट्रो सेवा और पब्लिक ट्रांसपोर्ट यानी डीटीसी बस सेवा है. ऐसे में कोरोना महामारी के कारण इन्हें सीमित क्षमताओं के साथ चलाया जा रहा है. अब इस बाबत एक नया आदेश आया है. दिल्ली आपदा प्रबंधन विभाग (DDMA) ने यात्रियों को संख्या को यथास्थिति बनाए रखने का फैसला किया है. क्योंकि राजधानी दिल्ली सहित देश के कई अन्य राज्यों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं इस एहतियात के तौर पर यह फैसला लिया गया है.Also Read - West Bengal: स्कूल-कॉलेजों को खोलने की मांग, कहा- जब शराब की दुकानें खुल सकती हैं तो कोरोना नियमों के साथ शिक्षण संस्थान क्यों नहीं?

जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, केरल, मध्य प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों में कोरोना के फिर से बढ़ते मामलों ने प्रशासन के कान खड़े कर दिए है. इस कारण राज्य सरकारों द्वारा सख्ती से कई फैसले लिए जा रहे हैं. DDMA के मुताबिक डीटीसी बसें सीमित क्षमताओं के साथ ही चलेंगी. हालात पर नजर रखा जा रहा है. Also Read - Delhi, Mumbai में घटी कोरोना की रफ्तार, कर्नाटक में बड़ी संख्‍या में आए केस, देखें अपने राज्य का अपडेट

यही नहीं डीटीसी ने में भी DDMA को प्रस्ताव भेजा था ताकि यात्रियों को बसों में खड़े रहने की अनुमति दी जाए. बता दें कि फिलहाल डीटीसी और क्लस्टर बसों में यात्रियों को खड़े होने की अनुमति नहीं है. यात्री केवल बैठकर ही यात्रा कर सकते हैं. वहीं मेट्रों ट्रेनों में एक सीट छोड़कर यात्रियों को बैठने की अनुमति दी गई है. यानी दो यात्रियों के हीच एक सीट खाली रह रही है. Also Read - कांग्रेस नेता Digvijaya Singh कोरोना वायरस से संक्रमित, खुद ट्वीट कर दी जानकारी