नई दिल्ली: Delhi-NCR के लोगों को आज काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. यहां ओला और उबर कैब सर्विस के दो लाख ड्राइवर आज अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गये हैं. बता दें कि आज दिल्ली में 18 परीक्षा केंद्रों पर जेईई की परीक्षा हो रही है और दिल्ली में पब्लिक ट्रांसपोर्ट अभी बंद हैं. कोरोना संक्रमण को लेकर जारी लॉकडाउन के कारण मेट्रो भी बंद है और बसें भी कम ही चल रही हैं. ऐसे में छात्रों को परीक्षा केंद्रों तक पहुंचने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.Also Read - मैं प्रबुद्ध वक्ता नहीं, मुझे शब्दों को बयां करने के लिए अच्छी अंग्रेजी नहीं आती: CJI रमन

कोविड -19 महामारी के मद्देनजर लोन जमा करने की अवधि का विस्तार और किराया में बढ़ोतरी की मांग को लेकर आज कैब ड्राइवर हड़ताल पर हैं. हिंदुस्तान टाइम्स अखबार में छपी खबर के मुताबिक ओला-उबर ड्राइवरों के संघ, सर्वोदय ड्राइवर्स एसोसिएशन ऑफ दिल्ली के अध्यक्ष कमलजीत सिंह गिल ने कहा कि कैब सेवाओं के लगभग दो लाख ड्राइवर इस हड़ताल में शामिल हो रहे हैं. क्योंकि सरकार ने उनकी अपील पर कोई कार्रवाई नहीं की है. Also Read - Delhi-NCR के 43 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उनके परिवार में या करीबियों को डेंगू हुआ, सर्वे में खुलासा

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण ड्राइवरों को अपना घर चलाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और ऐसे में वो ईएमआई का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं. मोरोटोरियम अवधि खत्म होने के बाद उन्हें अब ईएमआई जमा करने की चिंता सता रही है. बैंक लोन की किश्त जमा करने का दबाव बना रहे हैं. Also Read - Air Pollution: दिल्ली-NCR में हवा हुई बेहद खराब, डीजल जेनरेटर चलाने पर रोक, कई और कदम उठाने के निर्देश

इसके अलावा ड्राइवरों की ये भी मांग है कि उनके वाहनों के खिलाफ जारी किए गए ई-चालान को वापस लिया जाये. इसके साथ ही ड्राइवर अब दिल्ली, एनसीआर ,नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुड़गांव के बीच सवारियों को पहुंचाने पर अधिक कमिशन की मांग कर रहे हैं. जानकारी के मुताबिक अपनी मांगों के समर्थन में कैब चालक मंगलवार को सरकारी कार्रवाई की मांग के लिए मंडी हाउस में हिमाचल भवन के पास जमा होंगे.