नई दिल्ली: इंटेलिजेंस ब्यूरो ने दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़े एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है. संदिग्ध युवक राजस्थान का रहने वाला है. वह दिल्ली एयरपोर्ट से दोहा जाने की फिराक में था. आशंका है कि संदिग्ध युवक आईएसआईएस के टेरर मॉड्यूल से प्रेरित है. आईबी के साथ ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल उससे पूछताछ कर रही है. Also Read - राजस्थान सरकार का फैसला, ग्रामीण क्षेत्रों में 1 जुलाई से छोटे मंदिर फिर से खुलेंगे

Also Read - Coronavirus in Rajasthan Update: 24 घंटे में 121 नए मामले, कोविड-19 से अब तक 400 से अधिक लोगों की मौत

हमारे सहयोगी अखबार डीएनए की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट के मुताबिक आईबी के सूत्रों ने बताया कि संदिग्ध युवक दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 के इमिग्रेशन काउंटर से क्लियरेंस लेकर निकलने की कोशिश में था. वह जेट एयरवेज की दोहा जाने वाली 9w-554 फ्लाइट से कतर जाने वाला था. Also Read - राजस्थान सरकार ने बदला 14 दिन के अनिवार्य होम क्वारंटाइन का नियम, अब दूसरे प्रदेश से गए तो...

हिरासत में लिए गए संदिग्ध यात्री का नाम मोहम्मद शदीक बताया जा रहा है. वह राजस्थान के बीकानेर का रहने वाला है. जांच के दौरान उसके पास से ऐसे लिंक्स मिले हैं जिनका संबंध आईएसआईएस के टेरर माड्यूल से हो सकता है. हिरासत में लिए गए संदिग्ध से संबंधित जांच एजेंसियों द्वारा पूछताछ की जा रही है. आईबी के एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक ‘आईबी के साथ ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल भी पूछताछ कर रही है. स्पेशल ब्रांच के अनुसार हिरासत में लिया गया है, लेकिन इस मामले में अभी कोई जानकारी साझा नहीं की जा सकती है.’

ये भी पढ़ें : यूपी ATS ने संदिग्ध ISIS आतंकी को मुंबई एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

इससे पहले भी पकड़े जा चुके हैं आईएसआईएस से जुड़े संदिग्ध

आईएसआईएस या आतंकी संगठनों से जुड़े संदिग्ध को हिरासत में लिए जाने का यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले दिल्ली से 17 सितंबर, 2017 को आईएसआई के एक एजेंट को गिरफ्तार किया गया. कथित तौर पर यह एजेंट फौज की खुफिया जानकारी की ताक में था. उसने फेसबुक पर फेक आईडी बनाकर फौज की एक महिला अफसर से संपर्क स्थापित किया था. और फिर खुफिया जानकारी के लिए ब्लैकमेल करने लगा था. नवंबर, 2017 में केरल के कननूर से एक युवक को अरेस्ट किया गया था, जिसके तार आईएसआईएस से जुड़े थे.

अप्रैल, 2017 में केंद्र सरकार ने राज्यसभा में बताया था कि टेरर मॉड्यूल से प्रेरित करीब 80 लोगों को चिंहित कर पकड़ा जा चुका है. इससे पहले 2016 में केरल से 21 लोगों द्वारा कथित तौर पर आईएसआईएस से जुड़ने की खबरें आई थीं. इनमें 6 महिलाएं व 6 बच्चे शामिल थे. सितंबर, 2017 को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा अलकायदा सु जुड़े ब्रिटिश युवक को अरेस्ट किया था. ये शख्स सोशल मीडिया के जरिए फंड एकत्रित करता था.

आईएसआईएस जैसे आतंकी संगठन सोशल मीडिया के जरिए भारतीय युवाओं से संपर्क करने की कोशिश करते हैं, इसलिए दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया की निगरानी कड़ी कर रखी है.