नई दिल्ली: केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर अब एक और महिला पत्रकार ने अकबर पर यौन उत्पीड़न करने के गंभीर आरोप लगाए गए हैं. महिला पत्रकार ने एक अंग्रेजी वेबसाइट पर अपने कड़वे अनुभवों को साझा करते हुए लंबा लेख लिखा है. महिला पत्रकार के अनुसार, ‘अकबर ने होटल से लेकर अखबार के दफ्तर तक में कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया. आपत्तिजनक हरकतें कर किस करने का प्रयास किया. होटल में बुलाकर सिर्फ अंडरवियर पहनकर दरवाजा खोला. ऐसे भी कौन स्वागत करता है.’ महिला पत्रकार ने लेख में और भी बातें साझा की हैं. एक दिन पहले ही एमजे अकबर ने विदेश से वापस आने के बाद आरोप लगाने वाली पत्रकार निष्ठां जैन पर मानहानि का केस किया है. Also Read - 5 साल की मासूम बच्ची से रेप, फिर परिजनों को मिली जान की धमकी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Also Read - #Mee Too: यौन उत्तपीड़न के आरोप में घिरे पूर्व मंत्री एमजे अकबर बोले- रमानी को मुझ पर इस तरह का आरोप लगाने का कोई हक नहीं

#MeToo: यौन शोषण के आरोपों पर अदालत पहुंचे एमजे अकबर, प्रिया रमानी के खिलाफ शिकायत Also Read - मुकेश खन्ना ने महिलाओं पर दिया विवादित बयान, लोगों का 'शक्तिमान' पर फूटा गुस्सा- SEE VIDEO 

पहली घटना: ‘मैं होटल पहुंची, अकबर ने अंडरवियर पहन हुए दरवाजा खोला’

एमजे अकबर पर अब तक 16 महिलाएं यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी हैं. नया आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार का नाम तुषिता पटेल है. तुषिता ने एक वेबसाइट पर लंबा लेख लिखा है. तुषिता के अनुसार, ‘1992 में वह टेलीग्राफ, कोलकाता में ट्रेनी पत्रकार थीं. अकबर यहां कभी-कभी आते थे. उनसे किसी ने पूछा कि क्या एमजे अकबर से मिलना चाहोगी. मैंने तैयार हो गई. तब अकबर से कौन नहीं मिलना चाहता था? इसके बाद अकबर खुद मेरे घर फोन कर मुझे होटल बुलाया. वह होटल पहुंचीं.’ तुषिता के अनुसार, ‘घंटी बजाने के बाद कमरे का दरवाजा खुला. जैसे ही दरवाजा खुला वह अवाक रह गईं. एमजे अकबर सामने अंडरवियर पहने खड़े थे. क्या 22 साल कि किसी लड़की का स्वागत करने का ये तरीका नैतिक था.’

#Metoo: अब विदेशी पत्रकार ने लगाए मंत्री एमजे अकबर पर आरोप, अमित शाह बोले- होगी जांच

दूसरी घटना: ‘होटल में हरकतों के बाद भागी, ऑटो में बैठकर रोई’

तुषिता ने दूसरी घटना का जिक्र किया. उन्होंने लिखा कि 1993 में वह हैदराबाद में ‘डेक्कन क्रॉनिकल’ अखबार में सीनियर सब एडिटर के तौर पर ज्वाइन किया. एमजे अकबर अखबार के एडिटर-इन-चीफ थे. एक बार अकबर हैदराबाद आए और मुझे पेग डिस्कशन के लिए होटल बुलाया. मुझे कुछ पेज पूरे करने थे, इसलिए होटल पहुंचते-पहुंचते मुझे देर हो गई. जब मैं होटल के कमरे में पहुंची तो अकबर ने मुझे गलत तरीके से टच किया. किस करने लगे. इसके बाद मैं उठी और दौड़ कर सड़क पर पहुंच गई. मुझे अकबर की मूंछ के कड़े बाल और चाय की महक आज भी यादों में चुभते हैं. मैंने ऑटो लिया और उसमें बैठ कर रोने लगी.

#MeToo मंत्री एम.जे.अकबर पर कम से कम 6 महिला पत्रकारों ने लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप

तीसरी घटना: ‘अकबर आपत्तिजनक हरकतें कर रहे थे, मैं रो रही थी’

इसके बाद अगले दिन ऑफिस पहुंचने पर अकबर ने फिर से कांफ्रेंस रूम में बुलाया और आपत्ति जनक हरकतें की. वह अकबर को लगातार नजरअंदाज करने का प्रयास कर रही थीं. इसके बाद भी अकबर ने एक अन्य दिन मुझे फिर से बुलाकर कहा कि कहां गायब हो गईं थीं. तुमसे पेज को लेकर बात करनी थी. इसके बाद अकबर ने फिर से आपत्ति जनक हरकतें की. तुषिता ने लिखा कि ‘वह बेहद आहत थीं. शर्मिंदगी थी. आंसू आ रहे थे. ऐसे हाल में वह कांफ्रेस रूम में रहीं’. तुषिता ने लिखा कि अब अकबर को झूठ बोलना बंद कर देना चाहिए. अकबर की धमकियां हमें डरा नहीं सकती हैं.