नई दिल्ली: नौसेना के शीर्ष कमांडरों ने शुक्रवार को सम्पन्न हुए तीन दिवसीय सम्मेलन के दौरान महिलाओं को नाविक पद पर भर्ती करने के संदर्भ में विचार-विमर्श किया. अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि नौसेना ‘सी गोइंग काडर’ में निकट भविष्य में महिलाओं को भर्ती करने पर भी विचार कर रही है. रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने नौसेना कमांडर सम्मेलन में नौसेना के शीर्ष अधिकारियों को अपने संबोधन में नौसेना में अधिक से अधिक संख्या में महिलाओं को भर्ती किए जाने पर जोर दिया.

सूत्रों ने बताया कि रक्षा मंत्री ने अनुरोध किया कि नौसेना महिलाओं को भर्ती करने पर बढ़ावा दे. इस पर नौसेना प्रमुख सुनील लांबा ने पुष्टि की कि नाविक पद पर महिलाओं की भर्ती सम्मेलन के एजेंडों में शामिल था. ‘सी गोइंग काडर’ में भी निकट भविष्य में महिलाओं की भर्ती पर विचार किया जा रहा है.’

वर्तमान में महिलाएं नौसेना की विभिन्न शाखाओं में तैनात हैं, लेकिन उन्हें समुद्र में नहीं भेजा जाता है. हालांकि वे नौसेना के आईएल-38 और पी-8आई टोही विमान के निगरानीकर्ता के तौर पर कार्य करती हैं. नौसेना में 639 महिला कर्मी हैं जिनमें 148 चिकित्सा अधिकारी और दो दंत चिकित्सा अधिकारी हैं.