Tractor Rally: कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों की ट्रैक्टर रैली में हुड़दंग शुरू हो चुका है. दरअसल टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर और सिंघु बॉर्डर पर किसानों द्वारा बैरिकेडिंग तोड़े जाने बाद कुछ झड़प भी देखने को मिली. इस दौरान कई जगह पुलिस को लाठीचार्ज और आंसूगैस के गोले भी दागने पड़े. लेकिन इस बीच अहम बात यह है कि दिल्ली पुलिस द्वारा दिए गए रूटमैप के मुताबिक किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने की इजाजत नहीं थी लेकिन किसान दिल्ली में प्रवेश कर चुके हैं और लाल किले की ओर बढ़ रहे हैं.Also Read - Republic Day Parade के लिए गाइडलाइंस जारी, शामिल होने के लिए यह सर्टिफिकेट जरूरी; 15 साल तक के बच्चों को नो एंट्री

यही नहीं किसानों द्वारा कई जगहों पर तोड़फोड़ की गई और पुलिस की गाड़ियों के उपर वे चढ़ दिए. विरोध के नाम पर ट्रैक्टर रैली में जमकर हुड़दंग देखने को मिल रहा है. भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया कि हमें जो रूट दिया गया है हम उसी रूट से जा रहे हैं. आंदोलन खत्म नहीं होगा और नियमों का पूरा पालन किया जाएगा. वहीं संयुक्त किसान मोर्चे ने सफाई दी है कि जो लोग दिल्ली में दाखिल हुए, वो हमारी यूनियन का हिस्सा नहीं हैं. Also Read - JNU कैम्‍पस में छात्रा से छेड़छाड़ का मामला: Delhi पुलिस ने 1000 CCTV कैमरों के फुटेज खंगालकर खोज निकाला आरोपी

बता दें कि किसानों एक वीडियो में एक ट्रैक्टर चालक किसान स्टंट करता दिखाई दे रहा है, इसी दौरान असावधानी के कारण उसका ट्रैक्टर पलट गया, हालांकि किसी को इस घटना में ज्यादा चोट नहीं है. वहीं संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस द्वारा आंसूगैस का इस्तेमाल किया गया. वहीं Also Read - मुस्लिम महिलाओं के प्रति अश्लील टिप्पणी का केस: Club House पर बिसमिल्लाह नाम से प्रोफाइल बनाए था आरोपी, पकड़ा गया

बता दें कि दिल्ली के मुकरबा चौक पर लगाए गए बैरिकेड और सीमेंट के अवरोधनों को किसानों द्वारा ट्रैक्टरों से तोड़ने की कोशिशें की जा रही हैं. बता दें कि राजधानी दिल्ली के ITO क्षेत्र में पहुंची किसानों की ट्रैक्टर रैली अब हुंडदंग का कारण बन चुकी है. यहां पुलिस और किसानों के बीच झड़प देखने को मिल रही है. किसानों द्वारा पुलिस के बस को ट्रैक्टर के सहारे पलटने की कोशिश की जा रही थी, इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया है और मामले को नियंत्रित करने का प्रयास किया जा रहा है.