नई दिल्लीः तमिलनाडु (Tamil Nadu) के कोयम्बटूर (Coimbatore) जिले के थोंडामुतूर इलाके के नरसीपुरम में लोग उस वक्त हैरान रह गए, जब इलाके में एक 15 फीट लंबा किंग कोबरा दिखाई दिया. विशालकाय किंग कोबरा (King Cobra) देखने के बाद इलाके के लोगों ने वन विभाग के कर्मचारियों को इसकी सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने कोबरा को पकड़कर सिरुवानी के जंगल में इसे सुरक्षित छोड़ दिया. लेकिन, इतने विशालकाय किंग कोबरा (15 Feet long king cobra) को देखने के बाद इलाके के लोगों में अभी भी हलचल और डर का माहौल है. Also Read - Corona Cases in India Update: कोरोना की वजह से 24 घंटे में एक हजार से ज्यादा मौतें, 64 हजार से अधिक नए मामले

दरअसल, नरसीपरुम गांव पश्चिमी घाट पर्वत श्रृंखला में वेल्लियांगिरी पर्वत की तलहटी में स्थित है और पश्चिमी घाट जैव विविधता का हब कहा जाता है. जहां भारी संख्या में दुनिया के सबसे लंबे और जहरीले सांप किंग कोबरा पाए जाते हैं. कोबरा की गिनती सांपों की प्रजाती में सबसे जहरीले सांपों के रूप में होती है और दक्षिण भारत (South India) में ये सांप सबसे अधिक पाए जाते हैं. Also Read - उत्तर प्रदेश: कोरोना के इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल अब नहीं ले पाएंगे मनमाना पैसा, तय किये गए रेट

किंग कोबरा के जहरीले होने के कारण लोग इससे काफी डरते हैं. बता दें इससे पहले हाल ही में कोयंबटूर के पास एक गांव में रसेल वाइपर सांप भी पाया गया था. रसेल वाइपर सांपों की सबसे विषैली प्रजाती में से एक है. रसेल वाइपर को कोयंबटूर के पास स्थित एक गांव में देखा गया था.

लोगों ने पाया कि यह सांप बाथरूम में अपना कब्जा जमाए हुए था और बच्चों को जन्म दे रहा था. हालांकि, लॉकडाउन के बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में दुर्लभ जीव नजर आए थे. लोगों के घरों में कैद होने के बाद नोएडा से लेकर पंजाब तक में अलग-अलग हिस्सों में जानवरों के निकलने का दौर शुरू हो गया था.