लखनऊ/देहरादून: सावन शरू होने के साथ ही कांवड़ यात्रा शुरू हो गई है. हरिद्वार में कांवड़ियों की भीड़ के बीच जाने-माने ‘गोल्‍डन बाबा’ भी कांवड़ यात्रा के लिए पहुंच गए हैं. इस बार उन्‍होंने कुल 20 किलो सोना पहना हुआ है. ‘गोल्डन बाबा’ के मुताबिक, वे 2018 में 25वीं बार कांवड़ यात्रा पर आए हैं. जो कि उनकी आखिरी कांवड़ यात्रा हो सकती है. Also Read - Maha Kumbh 2021: हरिद्वार महाकुंभ में होने वाले शाही स्नान की तारीखों का ऐलान, यहां देखें पूरी लिस्ट

  Also Read - पुलिस के हत्थे चढ़ा खालिस्तान लिबरेशन फोर्स को हथियार सप्लाई करने वाला शख्स

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गोल्डन बाबा उत्तराखंड के हरिद्वार से कांवड़ यात्रा शुरू कर रहे हैं. जो कि उनकी 25वीं यात्रा यानी सिल्वर जुबली है. कांवड़ यात्रा के दौरान उन्होंने सुरक्षाकर्मियों और अन्य श्रद्धालुओं के साथ तस्वीरें भी खींचवाईं. अपनी करीब 200 किलोमीटर की यात्रा के दौरान गोल्‍डन बाबा अलग-अलग शहरों में ठहरते हैं और बाबा के भक्त उनकी एक झलक पाने के लिए तरसते रहते हैं. गोल्डन बाबा ने बड़ा सोने का हार, सोने के ताले, सोने के छल्ले और अन्य सोने के गहने पहने हुए हैं. गोल्‍डन बाबा की सुरक्षा के लिए 25 पुलिसकर्मियों का घेरा तैनात रहता है.

Shravan 2018: सावन में गंगा स्नान की महत्वपूर्ण तिथियां, जानिये

सुधीर कुमार माकड़ है गोल्‍डन बाबा का असली नाम
बता दें कि गोल्‍डन बाबा का असली नाम सुधीर कुमार माकड़ है. उन्होंने एक बार कहा कि वह सोने के गहने पहनते हैं, क्योंकि यह भगवान लक्ष्मी का प्रतीक है. जब उनसे पूछा गया कि उन्‍हें इतना सोना कैसे मिला तो उन्होंने बताया कि यह सब उन्‍होंने अपने अनुयायियों द्वारा दान किए गए पैसे से खरीदा है. उनका कहना है कि इस बार वह कांवड़ यात्रा की सिल्‍वर जुबली मना रहे हैं, हो सकता है कि यह उनकी आखिरी कांवड़ यात्रा हो.

Shravan 2018: सावन के महीने के हर सोमवार का है खास महत्व, आइए जानें

150 करोड़ संपत्ति के मालिक हैं गोल्‍डन बाबा
हर साल हरिद्वार में कांवड़ लेकर आने वाले गोल्डन बाबा की कुल संपत्ति 150 करोड़ रुपये है. उन्‍हें सोने के गहने पहनने का काफी शौक है. वइ इस बार 20 किलो सोना पहने हुए हैं. इसके अलावा हाथों में कीमती अंगूठियां हैं, जो कि हीरों से जड़ी हुई है. इसके अलावा वह रोलेक्स की खास घड़ी पहनते हैं, जिसकी कीमत 27 लाख रुपये के करीब है.