नई दिल्ली: चाहतें हर उम्र में होती हैं और इन चाहतों को हक़ीक़त में बदलने के लिए हिम्मत और भरोसे की ज़रूरत होती है. एक ऐसी ही प्रेरणा से भरपूर कहानी सामने आई है जहां 90 साल की उम्र में एक दादी ने बिजनेस स्टार्ट अप करने का सोचा और कर दिखाया. चंडीगढ़ निवासी 94 वर्षीय हरभजन कौर (Harbhajan Kaur) ने चार साल पहले अपनी उद्यमी सफर की शुरुआत की और आज वो देश भर के एंटरप्रेन्योर के बीच मशहूर है. बेसन की बर्फी और कई तरीके की मिठाई बनाने में महारत रखती हरभजन ने अपने परिवार के सहयोग से अपने नाम ‘हरभजन’ से एक बिजनेस को स्टार्ट किया जो आज एक ब्रैंड बन चूका है.

हरभजन कौर की बेटी रवीना सूरी ने एक दफा उनसे पूछा कि क्या उनके जीवन में कोई पचतावा है तो उन्होंने जवाब में कहा, “मेरे पास एक सुखद जीवन था, लेकिन मेरा एकमात्र अफसोस यह है कि मैंने कभी भी अपने दम पर कोई पैसा नहीं कमाया. काश! मैं ऐसा कर पाती.” इस जवाब के बाद रवीना ने उन्हें खुद का एक बिजनेस शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया जिसके फलस्वरूप हरभजन कौर ने अपने हाथों से बनी मिठाइयों को व्यापर करने का सोचा.

हरभजन कौर

स्टार्टअप के बारे में बात करते हुए, रवीना ने बताया कि उनकी मां (हरभजन कौर) हमेशा से ही एक अच्छी कुक रही हैं मगर जैसा की हर मां अपने अंदर की इस प्रतिभा को किसी न किसी वजह से अपने घर तक ही सीमित रखती है उन्होंने भी ऐसा किया मगर इस वृद्धावस्था में उन्होंने अपने अंदर के जज़्बे को जागकर अपने सपने को जीना शुरू कर दिया. रवीना ने बताया कि मां (हरभजन) की पहली कमाई 2000 रुपए की थी जिसे पाकर वो बेहद खुश थीं.

चार साल बाद जब हरभजन कौर का शौक एक बड़े ब्रांड में तब्दील हो गया तब रवीना ने बताया कि इस उपलब्धि और इस फैसले से उनकी जीवन में भी बहुत बदलाव आया है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर से लेकर आनंद महिंद्रा जैसी हस्तियों ने हरभजन के हाथों की बर्फी खाने की इच्छा ज़ाहिर की है.