नागपुर: नागपुर में अपने प्रेमी के साथ घूमने की बात छिपाने के लिए 21 वर्षीय एक युवती ने अपने अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी. गिट्टीखदान पुलिस थाने के निरीक्षक के सुनील गांगुर्दे ने बताया कि लड़की ने अपने परिवार वालों के साथ सोमवार रात आठ बजे अपने अपहण की शिकायत दर्ज कराई थी. उन्होंने शिकायत के हवाले से कहा कि उनके माता-पिता ने आरोप लगाया था कि कॉलेज से आते समय उनकी बेटी को चार पुरुष जबरदस्ती चार पहिया वाहन में बैठा एक वीरान जगह ले गए, लेकिन वह किसी तरह से वहां से भाग निकली.

इसके बाद पुलिस तुरन्त सक्रिय हो गई और महिला को उस स्थान पर ले गई जहां उसने खुद को ले जाए जाने की बात कही थी. नागपुर अपराधा शाखा की टीम भी वहां पहुंची और जांच शुरू की गई. हालांकि पुलिस को लड़की के विरोधाभासी बयानों पर संदेह हुआ. गांगुर्दे ने बताया कि तब पुलिस ने कॉलेज के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की और लड़की को एक युवक के साथ मोटरसाइकिल पर जाता पाया.

आख़िरी वक़्त मुशर्रफ ने कहा था- मेरे बच्चों का ख्याल रखना, मोनू अग्रवाल बोले- अब मैं संभालूंगा दोस्त का परिवार

उन्होंने बताया कि महिला से उसके परिवार के सामने इस पर पूछे जाने पर उसने अपहरण की झूठी कहानी गढ़ने की बात स्वीकार कर ली. पुलिस ने बताया कि लड़की कॉलेज से निकल कर अपने प्रेमी के साथ नागपुर के बाहरी इलाके वाकी चली गई. बाद में उसके प्रेमी ने उसे उसके घर के पास छोड़ दिया था. उन्होंने बताया कि बिना बताए घर से बाहर जाने पर घरवालों की डांट से बचने के लिए उसने अपहरण की यह झूठी कहानी गढ़ी थी.

पुलिस ने बताया कि लड़की को लगा था कि उसके माता-पिता उसकी बात मान लेंगे और बात वहीं खत्म हो जाएगी, लेकिन वे पुलिस के पास पहुंच गए. पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस सिलसिले में फिलहाल कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है.

VIDEO: मामूली क्रिसमस गिफ्ट देखकर बच्ची ने दिया गजब का रिएक्शन, 2 करोड़ से ज्यादा मिले व्यूज