रांची: एक किसान ने अपनी बेटी को JEE की परीक्षा दिलवाने के लिए नालंदा से रांची तक 300 किलोमीटर का सफर मोटरसाइकिल से तय किया. बिहार के नालंदा जिले में रहने वाले धनंजय कुमार ने 12 घंटे में 300 किलोमीटर की यात्रा की और यह सुनिश्चित किया कि वह झारखंड के रांची तुपुडाना में अपनी बेटी को मंगलवार को जेईई परीक्षा दिलवाने समय पर पहुंच सके. और किसान इसमें कामयाब भी रहे. वह अपनी बेटी को परीक्षा स्थल पर लेकर बिल्कुल ठीक समय पहुँच गए. Also Read - Unlock-4: बिहार से नेपाल, यूपी और झारखंड के लिए जल्द खुलेंगी बसें, हो रही तैयारी

कोविड-19 के चलते, बिहार और झारखंड के बीच कोई बस सेवा नहीं चल रही है. इसे देखते हुए धनंजय कुमार ने सोमवार तड़के नालंदा जिले से अपनी यात्रा शुरू की थी. वह आठ घंटे में बोकारो पहुंच गए और फिर वहां से 135 किलोमीटर की यात्रा कर सोमवार दोपहर रांची पहुंच गए. धनंजय ने पत्रकारों से कहा, “मैंने पाया कि नालंदा से रांची की लंबी दूरी तय करने के लिए मोटरसाईकिल ही केवल विकल्प है. कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से बसें नहीं चल रही हैं.” Also Read - Video: Jharkhand में पुलिसकर्मियों और पुलिस-सहायक के बीच झड़प, लाठीचार्ज क‍िया, आंसू गैस छोड़ी

उन्होंने कहा, “बोकारो से रांची जाने के दौरान, मुझे नींद आने लगी थी. मैं बीच में ही रुक गया और कुछ देर नींद ली, फिर अपनी बेटी के साथ यात्रा पूरी की.” झारखंड के 10 केंद्रों में करीब 22, 843 छात्र परीक्षा में शामिल हो रहे हैं. Also Read - लालू यादव से मिलने रिम्स पहुंचे हेमंत सोरेन, बोले- बिहार में मिलकर चुनाव लड़ेंगे