Atal Tunnel: दुनिया की सबसे लंबी रोड टनल (Longest High Altitude Road-Tunnel) बनकर तैयार हो गई है. अटल टनल मनाली और लेह को जोड़ेगी. 10 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित इस टनल का नाम अटल टनल (Atal Tunnel) है. इसे बनाने में करीबन 10 साल लगे, लेकिन जब इसका काम शुरू किया गया था तब लक्ष्य 6 साल में बनाने का था, लेकिन काम पूरा होने में 10 साल लग गए. इस टनल से मनाली और लेह (Atal Tunnel Connecting Manali-Leh) के बीच की दूरी घट जाएगी. टनल की लम्बाई करीब 9 किलोमीटर है. इससे चार घंटे का सफ़र कम हो जाएगा. टनल का नाम पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर है. पीएम नरेंद्र मोदी टनल का उद्घाटन करेंगे. Also Read - Time Magazine में पीएम मोदी के साथ 'शाहीनबाग की दादी' भी बिखेर रहीं जलवा, जानिए वजह

चीफ इंजीनियर केपी पुरुषोत्तम बताते हैं कि 10 साल में बन पाए इस टनल में हर 60 मीटर पर सीसीटीवी कैमरा लगे हैं. और टनल में हर 500 मीटर पर इमरजेंसी एग्जिट बने हुए हैं. टनल में अन्दर पाइप लाइन भी है, ताकि अगर कोई आग की घटना हो तो काबू पाया जा सके. टनल की चौड़ाई 10.5 मीटर है. इसमें दोनों साइड एक मीटर का फुटपाथ भी है. चीफ इंजीनियर कहते हैं कि ये एक बेहद कठिन निर्माण था. हमने इस बीच बहुत से कठिन हालातों का सामना किया. Also Read - PM मोदी के साथ Time 100 most influential list में जुड़ा आयुष्‍मान खुराना का नाम, दीपिका पादुकोण ने कहा...

इसलिए खास है ये टनल
10,171 फीट की ऊंचाई पर बनी है. रोहतांग पास से इसे जोड़कर बनाया गया है. यह दुनिया की सबसे ऊंची और सबसे लंबी रोड टनल है. करीब 8.8 किलोमीटर लंबी है, 10 मीटर चौड़ी है.

2003 से शुरू हुआ था काम
टनल का काम साल 2003 में शुरू हुआ था. इसकी मदद से लाहौल-स्पीति के बीच सभी तरह के मौसम में सड़क यातायात सुगम हो जाएगा और इससे पर्यटन में भी गति आएगी क्योंकि इससे पहले ठंड में देश के बाकी हिस्सों से यहां का संपर्क टूट जाता था.