नई दिल्ली. शादी-विवाह के दौरान छोटी-छोटी बातों पर दूल्हे के बिदकने, दुल्हन के शादी से इनकार करने, बाराती और लड़की वालों के बीच विवाद की खबरें तो आती रहती हैं. लेकिन बिहार के नालंदा यानी बिहारशरीफ जिले में रविवार की रात अनूठी घटना हुई. बिहारशरीफ में स्थित मणिराम अखाड़ा परिसर में खाने में रसगुल्ला न मिलने पर बारातियों और लड़की वालों के बीच मार-पीट की नौबत आ गई. मामला इतना बिगड़ा कि बारातियों ने लड़की वालों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, जिसमें दर्जनभर से अधिक लोग घायल हो गए. इनमें लड़की के पिता, भाई और बहनोई शामिल हैं. स्थानीय हिन्दुस्तान अखबार के मुताबिक, घटना में जख्मी हुए तीन लोगों को बेहतर इलाज के लिए राजधानी पटना रेफर करना पड़ा.

5 बार मिठाई दी, फिर भी किया बवाल
बिहारशरीफ में हुई घटना के बाद सदर अस्पताल में भर्ती घायलों ने मीडिया को बताया कि शेखपुरा जिले के मड़पसौना गांव की लड़की की शादी इसी जिले के रहने वाले लड़के के साथ होनी थी. शादी समारोह मणिराम अखाड़ा परिसर में चल रहा था. बारातियों के खाने के दौरान कुछ युवक बार-बार रसगुल्ला मांग रहे थे. लड़की वालों का कहना था कि उन लोगों ने युवकों को 5 बार मिठाई दी, लेकिन मांग कम नहीं हुई. बाद में लड़की वालों ने मिठाई देने से मना कर दिया. इस पर दोनों पक्षों के बीच पहले तो नोक-झोंक हुई, फिर विवाद बढ़ गया. विवाद होने के बाद युवक वहां से चले गए और कुछ ही देर में 20-25 अन्य युवकों के साथ लौटे. इन लोगों ने लाठी-डंडे और रॉड से लड़की वालों को मारना-पीटना शुरू कर दिया.

लड़की के परिजनों ने छुपकर बचाई जान
हिन्दुस्तान अखबार के मुताबिक, युवकों के मार-पीट पर उतारू होने के बाद शादी समारोह में अफरा-तफरी मच गई. आरोपी युवक, युवती-पक्ष के जो भी लोग मिले, उन्हें पीट रहे थे. अस्पताल में भर्ती घायलों ने आरोप लगाया कि उपद्रवियों ने महिलाओं और बच्चों को भी नहीं छोड़ा. उन लोगों ने लाठी-डंडे और रॉड से बच्चे-बड़े-बुजुर्ग, सभी को पीटा. हालत ये हो गई कि वधू-पक्ष के लोगों को जहां जगह मिली, वे वहीं छुपकर अपनी जान बचाते फिर रहे थे. हंगामे के दौरान बीच-बचाव करने पहुंचे लड़के के पिता पप्पू प्रसाद को भी चोट लगी और वे जख्मी हो गए. युवकों की मार-पिटाई से लड़की के पिता सुधीर कुमार सिन्हा, सीमा देवी, अशोक लाल, लक्ष्मी लाल सिन्हा समेत कई अन्य घायल हो गए.

समझौते के बाद पूरी की गईं रस्में
वर और वधू पक्ष के बीच हुए विवाद के कारण रविवार की रात शादी की रस्में पूरी नहीं हो सकीं. बाद में समाज के बड़े-बुजर्गों की पहल पर दोनों पक्ष फिर एक साथ बैठे. दोनों पक्षों के बीच समझौता हुआ, उसके बाद ही शादी की बाकी रस्में पूरी की जा सकीं. हिन्दुस्तान अखबार के मुताबिक, शहर के बिहार थाना क्षेत्र के थानाध्यक्ष के.के. मजूमदार ने बताया कि मार-पीट की सूचना के बाद पुलिस मौके पर तत्काल ही पहुंच गई थी. उन्होंने बताया कि दोनों पक्षों में से किसी ने घटना को लेकर लिखित शिकायत नहीं दी है. वर और वधू पक्ष के बीच समझौता हो गया है.