नई दिल्ली| एक साधारण कर्मचारी जिसने कभी अपने पूरे जीवन में जिस रकम के बारे में सोचा ना हो और उसके खाते में उतने रुपए देखने के लिए मिल जाए तो उसका चौंकना स्वाभिक है. ऐसा ही एक मामला बिहार में सामने आया है जहां बिहार सरकार का एक कर्मचारी रातों रात अरबपति बन गया. शेखपुरा जिले के राजस्व कर्मचारी विसुनदेव प्रसाद यादव ने किसी काम से बुधवार को अपना बैंलेस चेक किया तो उसे कुछ सूझ ही नहीं रहा था. दरअसल उसके अकाउंट में 99 करोड़ 95 लाख और 67 हजार रुपये थे.

विसुनदेव 25 हजार रुपए प्रति माह वेतन उठाने वाले एक साधारण कर्मचारी हैं और खाते मे इतना पैसा देख उन्हें खुद की आंखों पर भरोसा ही नहीं हो रहा था. विसुन शेखपुरा के घाट कुसुम्भा अंचल में राजस्व कार्मचारी हैं. उनका बैंक जमुई जिले के सिकंदरा में है. कुछ दिन पहले स्टेट बैंक की शाखा से पैसे निकालने गए तो पता चला कि उनके अकाउंट को कोई दूसरा ऑपरेट कर रहा है और उस दौरान उनके अकाउंट से पचास हजार रुपये निकल गए हैं.

जब इसकी शिकायत उन्होंने बैंक के मैनेजर से की तो मैनेजर ने कहा कि आपका पैसा लौटा दिया जाएगा हल्ला करने से कोई फायदा नहीं. इस खबर से वो बीमार भी पड़ गए. बाद में विसुन के खाते में 10-10 हजार करके पैसे वापस आ गए, उसके साथ ही 99 करोड़, 95 लाख और 67 हजार रुपये भी कर्मचारी के खाते में चले आए. विष्णुदेव ने फिर इसकी शिकायत बैंक मैनेजर से की तो उसने अपनी भूल बता कर रुपया वापस कर लेने की बात कही.