दोस्ती के लिए लोग क्या कुछ नहीं करते. दोस्त की बात हो तो जान तक देने को तैयार रहते हैं. ऐसी ही एक मिसाल फिर कायम हुई है. इस बार एक दोस्त, दूसरे की जान बचाने को मगरमच्छ तक से भिड़ गया. Also Read - मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस को एक और झटका, पार्टी के विधायक ने इस्‍तीफा देकर बीजेपी ज्‍वाइन की

मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल का है. यहां मगरमच्छ के हमले में गजेंद्र ने अपने दोस्त अमित जाटव को बचाकर दोस्ती की मिसाल पेश की है. Also Read - Full Lockdown in Madhya Pradesh: कोरोना वायरस के चलते फिर से थमी मध्य प्रदेश की रफ्तार, राज्य में लागू हुआ टोटल लॉकडाउन

मामला कलियासोत क्षेत्र का है. अमित जाटव और गजेंद्र नहाने गए थे. दोनों तालाब में नहा रहे थे, इसी दौरान एक मगरमच्छ ने अमित पर हमला बोल दिया और वह उसे खींचकर ले जाने लगा. Also Read - ग्वालियर दौरे पर पहुंचे शिवराज सिंह चौहान, बोले- मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कल होगा

तभी गजेंद्र ने अपनी जान को जोखिम में डालकर दोस्त की जान बचाने में कामयाबी हासिल कर दोस्ती की मिसाल पेश की है.

अमित ने पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा देते हुए संवाददाताओं को बताया कि वह अपने मित्र गजेंद्र के साथ तालाब में स्नान कर रहा था तभी उसके पैर को मगरमच्छ ने पकड़ लिया और पानी में नीचे की तरफ खींच ले गया, इसी दौरान गजेंद्र ने किसी तरह उसे सुरक्षित बचा लिया.

अमित का अस्पताल में इलाज चल रहा है. वह बताता है कि उसे इस बात का भरोसा ही नहीं था कि उसकी जान बच पाएगी, मगर गजेंद्र उसकी जान बचाने एक अवतार बनकर आया.

गजेंद्र ने जो किया उसे शब्दों में बयां नहीं कर सकता. वहीं गजेंद्र का कहना है कि उसने दोस्त की खातिर जान को दांव पर लगाने में हिचक नहीं दिखाई क्योंकि उसके लिए दोस्ती ज्यादा बड़ी है.
(एजेंसी से इनपुट)