मुंबई के साकी नाका इलाके में हेयर ट्रांसप्लांट कराने के दो दिन के भीतर एक कारोबारी की मौत हो जाने का मामला सामने आया है. इस कारण इस मेडिकल प्रक्रिया के दौरान अपनाई जाने वाली सुरक्षा को लेकर सवाल उठने लगे हैं. रिपोर्ट्स के मुताबकि कारोबारी के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया है, लेकिन मौत के कारणों को लेकर कोई ठोस बात नहीं कही गई है. वहीं, डॉक्टर्स का करना है कि खतरनाक एलर्जिक रिएक्शन होने के कारण कारोबारी की मौत हुई है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 43 वर्षीय कारोबारी श्रवण कुमार चौधरी को शुक्रवार को पोवई के हीरानंदानी हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया. उनको सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. उनके चेहरे और गले में सूजन था. उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने उनकी स्थिति देखकर बताया कि उनको खतरनाक किस्म की एलर्जी हुई है, जिसे मेडिकल की भाषा में एनाफिलैक्सि कहा जाता है. सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि यह सुनकर चौधरी अचंभित रह गए. इसके बाद उनके हृदय की जांच करने के लिए एक कार्डियोलॉजिस्ट को भी बुलाया गया है, लेकिन शनिवार सुबह 6.45 बजे चौधरी ने दम तोड़ दिया. पुलिस ने बताया कि चौधरी के सर पर 9500 हजार बाल ट्रांसप्लाट किए गए थे. बाल ट्रांसप्लांट करने की यह प्रक्रिया करीब 15 घंटा चली थी.