नई द‍िल्‍ली: जिसने अपनी वीरता से मुगलों को घुटने टेकने पर मजबूर किया, उन शिवाजी महाराज की आज जयंती है. शिवाजी के बारे में सबसे खास बात ये है कि वे महान योद्धा तो थे ही साथ ही काफी दयालु भी थे. जानें उनके बारे में ऐसी 10 बातें, जो उन्‍हें महान बनाती हैं…

1. छत्रपति शिवाजी महाराज का पूरा नाम शिवाजी शहाजी राजे भोसले थे. उनका जन्‍म 19 फरवरी 1630 को पुणे में हुआ था. उन्‍होंने ही मराठा साम्राज्‍य खड़ा किया.
2. वीर योद्धा होने के साथ-साथ वो सैन्य रणनीतिकार भी थे. गुरिल्ला युद्ध की नई तकनीक सिखाने वाले शिवाजी महाराज ही थे. उन्‍हें महान देशभक्‍त कहा जाता है. साथ ही वे काफी दयालु भी थे.
3. 343 साल पहले 6 जून 1674 को उनका राज्याभिषेक हुआ था. उन्‍होंने देशहित में कई काम किए.
4. उनकी खास बात ये थी कि वे सभी धर्मों का समान रूप से सम्मान किया करते थे. वे धर्मांतरण के सख्त खिलाफ थे. उनकी सेना में मुस्लिम बड़े पदों पर मौजूद थे. इब्राहिम खान और दौलत खान उनकी नौसेना के खास पदों पर थे.
5. शिवाजी ने सिंधुगढ़ और विजयदुर्ग में नौसेना के किले तैयार किए थे. रत्नागिरी में उन्होंने अपने जहाजों को सही करने के लिए दुर्ग तैयार किया था. उन्‍होंने सैन्‍य शक्ति का काफी विस्‍तार भी किया था.
6. ऐसा माना जाता है कि उनकी सेना ने ही पहली बार गुरिल्ला युद्ध का आरंभ किया.
7. जमीनी युद्ध में शिवाजी को महारात हासिल थी. पेशेवर सेना तैयार करने वाले वो पहले शासक थे. वो अपने सैनिकों को जमकर युद्धाभ्‍यास कराया करते थे.
8. शिवाजी महाराज महिलाओं का काफी सम्‍मान करते थे. उन्‍होंने आदेश दिया था कि युद्ध में बंदी किसी महिला के साथ बुरा बर्ताव नहीं होगा. इज्‍जत के साथ उन्‍हें घर भेजा जाएगा.
9. उन्होंने फारसी की जगह मराठी और संस्कृत को राजकाज की भाषा बनाया था. उनके प्रशासकीय कार्यों में मदद के लिए आठ मंत्रियों की एक परिषद भी थी. इस परिषद को अष्टप्रधान कहा जाता था.
10. कहा जाता है कि बीजापुर जीतने में शिवाजी ने औरंगजेब की मदद भी की थी लेकिन शर्त ये थी कि बीजापुर के गांव और किले मराठा साम्राज्य के तहत रहेंगे. पर इनके के बीच मार्च 1657 में तल्खी शुरू हो गई. दोनों के बीच ऐसी कई लड़ाईंयां हुईं जिनका कोई हल नहीं निकला.