भोपाल. मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने तक नंगे पैर रहने और जूते नहीं पहनने का संकल्प लेने वाले कांग्रेस के 40 वर्षीय एक कार्यकर्ता ने यहां बुधवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ की उपस्थिति में अपने पैरों में 15 साल बाद जूते पहने. कमलनाथ ने अपने ट्वीट पर इसका उल्लेख करते हुए लिखा है, ‘‘आज निवास पर राजगढ़ के कार्यकर्ता श्री दुर्गा लाल किरार से मिलकर उन्हें जूते पहनाएं, उन्होंने संकल्प लिया था कि जब तक प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बनेगी तब तक जूता नहीं पहनेंगे. ऐसे कार्यकर्ताओं को सलाम है जो पूरी निष्ठा से कांग्रेस के लिए दिन रात मेहनत करते है.’’ टि्वटर पर मुख्यमंत्री ने इस मौके का फोटो भी शेयर किया है. इस अवसर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह भी उपस्थित थे.

प्रदेश कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने बताया कि राजगढ़ से लगभग 20 किलोमीटर दूर लिम्मबोदा गांव के रहने वाले दुर्गालाल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के समर्थक हैं. उन्होंने बताया कि दुर्गालाल ने 15 साल पहले प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद 2003 में कांग्रेस की सरकार बनने तक पैरों में जूते नहीं पहनने और नंगे पैर रहने का संकल्प लिया था. अब 15 साल बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद दुर्गालाल का संकल्प पूरा हुआ और उन्होंने आज मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर उनकी मौजूदगी में नए जूते पहने. कमलनाथ ने 17 दिसंबर को प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली और मध्यप्रदेश में 15 साल के बाद कांग्रेस की सरकार बनी है.

मालूम हो कि दिग्विजय सिंह वर्ष 1993 से 2003 तक कांग्रेस सरकार के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री थे और वर्ष 2003 में कांग्रेस, विधानसभा चुनाव हार गई थी और प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी थी. तब से लेकर वर्ष 2018 तक लगातार 15 साल तक भारतीय जनता पार्टी ने मध्यप्रदेश में शासन किया. वर्ष 2003 में कुछ दिनों के लिए उमा भारती प्रदेश की मुख्यमंत्री बनी थीं. उसके बाद बाबूलाल गौर सीएम बने. लेकिन उसके बाद से शिवराज सिंह चौहान ही प्रदेश की मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज थे.

(इनपुट – एजेंसी)