Corona Virus in Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस लगातार बढ़ रहा है. भोपाल और इंदौर कोरोना का गढ़ बना हुआ है. यहाँ कोरोना अपने पाँव जमाता दिख रहा है. कई पुलिस अफसर भी इसकी चपेट में आ चुके हैं. वहीं, इंदौर में कोरोना पॉजिटिव हुए असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर भगवती शरण शर्मा कोरोना से जंग जीत गए. वह ठीक होकर जब लौटे तो उनके स्वागत में उनके साथी पुलिस कर्मियों ने ढोल नगाड़े बजवा दिए. असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर का जोरदार स्वागत किया गया. Also Read - यूपी: कोरोना मरीजों के लिए एक लाख बेड तैयार, इतनी बड़ी तैयारी करने वाला देश का पहला राज्य

दरअसल, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर भगवती शरण शर्मा ड्यूटी के दौरान कोरोना की चपेट में आ गए थे. वह कई दिन से हॉस्पिटल में भर्ती थी. हॉस्पिटल में लगातार इलाज के बाद वह ठीक हो गए. जब हॉस्पिटल से वह लौटे तो किसी हीरो की तरह उनका स्वागत किया गया था. भगवती शरण शर्मा को खुली जीप में बैठाया गया. माला पहनाई गई. ढोल नगाड़े बजाये गए. इसके साथ ही बैंड से गाने भी उनके स्वागत में गाये गए. Also Read - लॉकडाउन बढ़ने की बात सुन महिला ने खाया ज़हर, ससुराल से मायके न जा पाने से थी परेशान

बता दें कि मध्य प्रदेश में पुलिस अधिकारी भी बड़ी संख्या में कोरोना की चपेट में आए हैं. कुछ दिन पहले पुलिस अधिकारी यशवंत पाल की कोरोना की चपेट में आने के बाद जान चली गई थी. कोरोना वॉरियर बनी पुलिस के एक अधिकारी की जान जाने से डिपार्टमेंट को बड़ा झटका लगा था. इससे ये भी सवाल उठा कि आखिर पुलिस को ऐसी परिस्थिति में किस तरह से काम करना चाहिए कि कोरोना की चपेट न आएं. इसी बीच एक दिन पहले ही मध्य प्रदेश सरकार ने यशवंत पाल की 23 साल की बेटी फाल्गुनी पाल को अनुकम्पा के आधार पर नौकरी दी है. फाल्गुनी को सब इंस्पेक्टर बनाया गया है.