cow

सागर: अभी तक इंसान की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट की बात सुनी होगी, मगर मध्य प्रदेश के सागर जिले में एक गाय के बछड़े के वास्तविक मालिक का पता लगाने के लिए डीएनए परीक्षण कराए जाने की कवायद चल रही है। पुलिस ने बछड़े का मालिक होने का दावा करने वाले व्यक्ति पर यह छोड़ दिया है कि अगर वह चाहे तो डीएनए परीक्षण करा सकता है। पुलिस ने बताया है कि मामला सागर जिले के गोपालगंज थाना क्षेत्र का है। यहां रहने वाले संतोष दुबे का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाला चमन (परिवर्तित नाम), जो पुलिस विभाग में कांस्टेबल है, उसकी गाय के बछड़े को ले गया। अब वह बछड़ा वापस नहीं कर रहा है। उसने इसकी शिकायत पुलिस से की।

नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) गौतम सोलंकी ने बुधवार को आईएएनएस को बताया कि संतोष की शिकायत पर पुलिस ने गाय व बछड़े की पशु चिकित्सकों से जांच कराई जिसमें संतोष का दावा गलत निकला है। अब संतोष गाय और बछड़े की डीएनए जांच चाहता है।

संतोष का कहना है कि वह गाय व बछड़े की डीएनए जांच कराने के लिए पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क करेंगे। वही सोलंकी का कहना है कि पुलिस जटिल मामलों को सुलझाने के लिए डीएनए जांच का सहारा लेती है, मगर गाय-बछड़े के मामले में ऐसा नहीं कराएगी, हां अगर संतोष स्वयं के खर्च पर यह जांच कराना चाहे तो वह स्वतंत्र है। जांच पर आने वाले खर्च का वहन संबंधित व्यक्ति को ही करना होगा।