नई दिल्ली: दिल्ली के अनाज मंडी (Delhi Anaj Mandi Fire) इलाके में रविवार को जलती इमारत में सबसे पहले घुसने वाले दमकलकर्मियों में से एक राजेश शुक्ला (Fireman Rajesh Shukla) ने 11 लोगों की जान बचाई. दिल्ली अग्निशमन सेवा के कर्मी राजेश शुक्ला को इस बचाव अभियान के दौरान पैर में चोट आई और उनका भी एलएनजेपी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन (Home Minister of Delhi Satyendra Jain) ने अस्पताल में शुक्ला से मुलाकात की. जैन ने ट्वीट किया, “दमकलकर्मी राजेश शुक्ला असली हीरो हैं. वह आग वाली जगह घुसने वाले पहले दमकलकर्मियों में शामिल थे और 11 लोगों की जान बचाई. हड्डी में चोट के बावजूद उन्होंने अंत तक अपना काम किया. इस हीरो की बहादुरी को सलाम.”

राजधानी दिल्ली (Delhi) के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी के एक मकान में भीषण आग लग गई, जिसके बाद इलाके में हड़कंप मच गया और हर तरफ अफरा-तफरी मच गई. घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियों ने बिना किसी देरी के आग को काबू करने की कोशिश शुरू की, लेकिन तब तक इस बेकाबू आग के चलते 43 लोगों की मौत हो गई. आशंका जताई जा रही है कि मरने वाले की संख्या बढ़ सकती है.

दिल्ली अग्निकांड: अब तक 43 की मौत, घटना की जांच के आदेश, फैक्ट्री मालिक के खिलाफ FIR

बताया जा रहा है कि जिन तीन घरों में आग लगी वहां थैले बनाने की अवैध रूप से फैक्ट्रियां संचालित की जा रही थी. घटना के बाद फैक्ट्री मालिक फरार हो गया है. पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है और उसे पकड़ने के लिए छापेमारी की कार्रवाई कर रही है.

इस घटना में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जिन्हें रेस्क्यू कर अस्पताल के लिए रवाना कर दिया गया है. टीम ने 56 से अधिक लोगों को रेस्क्यू किया है. दिल्ली अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि आग लगने की जानकारी सुबह 5 बजकर 22 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 30 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ ही सोनिया गांधी, राहुल गांधी सहित दूसरे बड़े नेताओं ने इस भीषण घटना में शोक जाहिर किया है. सीएम अरविंद केजरीवाल ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही उन्होंने घटना में मारे गए मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए और घायलों के परिवारों को 1-1 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं, भाजपा ने भी इस घटना में मारे गए लोगों के परिवारों को 5-5- लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया है. घटना में मारे गए अधिकतर लोग बिहार के हैं. बिहार के सीएम नितीश कुमार ने बिहार के मारे गए लोगों को 2-2 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा की है.