नई दिल्ली: तेलंगाना के करीमनगर जिले में बिजली बोर्ड में काम करने वाले एक अधिकारी ने अपने चैंबर में “मैं भ्रष्टाचारी नहीं हूँ” कहकर एक बहुत बड़ा बोर्ड लगा दिया. नॉर्दर्न पावर डिस्ट्रीब्यूशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NPDCL) के कार्यालय में एक अतिरिक्त प्रभागीय अभियंता पोदेती अशोक का कहना है कि उन्हें कई बार रिश्वत के प्रस्ताव आ चुके हैं जिसके कारण उनको मजबूर होकर यह कदम उठाना पड़ा.

एक चमकदार लाल रंग के बड़े से बोर्ड पर तेलुगु में “नेनु लंचम थेसुकोनू” लिखा जिसका मतलब है ‘मैं रिश्वत नहीं लेता हूं’ और उसके नीचे “मैं भ्रष्टाचारी नहीं हूं” लिखा है. यह बोर्ड लगभग 40 दिन पहले लगाया गया था, और हाल ही में यह सोशल मीडिया पर लोगों का ध्यान बहुत ही आकर्षित किया. एक न्यूज वेबसाइट के मुताबिक पोदेती अशोक पिछले 14 सालों से इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट में काम कर रहे हैं. वे कहते हैं कि अपने करियर के दौरान उन्हें काम करने के ऐवज में रिश्वत की पेशकश करके परेशान किया गया है.


श्री अशोक ने एक न्यूज वेबसाइट के मुताबिक बताया कि हमारे कार्यालय में हर दिन लोगों का एक नया ग्रुप कार्यालय में आता है और रिश्वत की पेशकश करता है. मैं एक ही बात को दोहराते हुए थक गया था कि मैं रिश्वत नहीं लेता हूं. आखिरकार, जब हद से ज्यादा हो गया था तो मुझे लगा कि एक नोटिस लगया जाए जिससे लोगों की सभी शंकाओं को दूर किया जा सके.

उन्होंने आगे यह भी कहा कि वह बोर्ड के कारण अपने सहकर्मियों से दुश्मनी का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वह पूरे विभाग को भ्रष्ट कह रहे हैं. अशोक ने कहा कि मेरा कहने का मतलब है कि मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ हूं. मैं यह नहीं कह रहा हूं कि दूसरे लोग भ्रष्ट हैं. मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं.