नई दिल्ली: दिल्ली, रोहतक, सोनीपत और गाजियाबाद में दिसंबर 1996 से दिसंबर 1997 के बीच 20 बम विस्फोटों में पांच लोगों की मौत मामले में झूठे फंसाए गए मोहम्मद आमिर खान का कहना है कि उनकी जिंदगी शाहरुख खान और प्रिटी जिंटा अभिनीत फिल्म ‘वीर-जारा’ से प्रेरित है. इस मामले में फंसने के बाद जेल से बाहर निकलने में आमिर को 14 साल लग गए. बरी होने से पहले आमिर ने आतंक के आरोप झेले और लंबा वक्त जेल की सलाखों के पीछे गुजारा. लेकिन इस दौरान प्रेमिका आलिया के प्यार ने उनके जख्मों पर मरहम का काम किया. Also Read - आतंकी संगठनों को मदद दे रहा है पाकिस्तान, सुरक्षित वातावरण मुहैया कराना जाना जारी: विदेश मंत्रालय

आमिर ने शादी कर ली है
आमिर ने एक पाकिस्तानी लड़की और जेल में बंद एक भारतीय व्यक्ति के दशकों बाद फिर से मिलने की कहानी वाली फिल्म को याद करते हुए कहा कि आलिया ने मुझे नहीं छोड़ा. मैं लोगों को बताता रहूंगा कि हमारी प्रेम कहानी शाहरुख खान-प्रिटी जिंटा की ‘वीरजारा’ की असल जिंदगी का संस्करण है. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने आमिर को अपनी तरह के पहले मुआवजे के तहत पांच लाख रुपये देने का फैसला किया था. अब आमिर ने शादी कर ली है और उनकी चार साल की एक बेटी है. Also Read - RR vs SRH: हैदराबाद की जीत में चमके मनीष पांडे-विजय शंकर, इन खिलाड़ियों का रहा अहम योगदान

1998 की एक रात….
आमिर और आलिया का प्यार दो दशक से भी पहले परवान चढ़ा था जब वे दिल्ली में एक ही ट्यूशन क्लास में साथ जाते थे. लेकिन दो युवा दिलों की कहानी में 1998 में फरवरी की रात को मोड़ आ गया जब उस समय 18 साल के छात्र रहे आमिर का पुरानी दिल्ली की एक सड़क से पुलिस ने अपहरण कर लिया. Also Read - चीनी कंपनी हुवावे को टक्कर देगा रिलायंस जियो, अमेरिका में हुई 5जी तकनीक की सफल टेस्टिंग

बचपन का प्यार 14 साल करता रहा इंतजार
वर्ष 2012 में 14 साल बाद जब वह 32 साल की उम्र में रोहतक जेल से निकला, उसके बचपन का प्यार तब भी उसका इंतजार कर रही थी. आमिर ने दिल्ली और गाजियाबाद की जेलों में भी समय काटा.
मानवाधिकार आयोग ने दिल्ली सरकार से आतंकवादी के रूप में आमिर को गलत तरीके से कैद रखने पर उसे पांच लाख रुपये का मुआवजा देने को कहा. मानवाधिकार आयोग ने कहा कि यह मुआवजा आमिर को नई जिंदगी शुरू करने में मदद करेगा. हालांकि मुआवजा किसी की जिंदगी के चौदह साल वापस नहीं लौटा सकता.

बनना चाहते थे पायलट
आमिर पायलट बनना चाहते थे, लेकिन पुलिस उन्हें झुठे केस में फंसा दिया. आमिर का कहना है कि मुझे इस बात को लेकर चिंता है कि क्या मैं अपने डरावने बीते कल को भूल कर एक नई जिंदगी शुरू कर पाउंगा. उन्होंने जॉब देने वालों का शुक्रिया अदा किया.