न्यूयार्क: क्या आप पर कार्यालय में काम का बोझ अधिक है? तो उसे घर पर लेकर न आएं, क्योंकि यह आपके साथी के साथ अंतरंगता को प्रभावित कर सकता है साथ ही आपके पेशेवर जीवन पर भी असर डाल सकता है. एक नए अध्ययन में यह चेतावनी दी गई है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, काम के सिलसिले में घर पर मोबाइल डिवाइस का प्रयोग करने से कर्मचारी के पेशेवर जीवन और जीवनसाथी के साथ संबंधों दोनों पर असर पड़ता है. Also Read - #WorkFromHome: घर से काम करने के नियमों में सुधार के बाद कंपनियों का 'इनोवेशन' जारी, हो सकता है गेमचेंजर

Also Read - सरकार ने IT Services और BPO के लिए नियम आसान किए, कहीं से भी कर सकेंगे वर्क फ्रॉम होम

अध्ययन के सह-लेखक और अर्लिगटन के टेक्सास विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर वेयने क्राफोर्ड ने बताया, “प्रौद्योगिकी और उसके कर्मचारियों पर पड़ने वाले असर को लेकर ढेर सारे शोध किए गए हैं. हम यह देखना चाहते थे कि क्या प्रौद्योगिकी के प्रयोग से घर पर कार्यालय के काम के कारण जीवनसाथी के साथ संबंधों पर कोई नकारात्मक असर होता है या नहीं.” Also Read - Health Issue: घर से काम करने के दौरान इस तरह की समस्याओं से परेशान हैं लोग, जानें कौन सी है वो बातें

यह भी पढ़ें: संस्कारी अलोक नाथ ने दी सलाह , कहा- घर और काम के बीच संतुलन जरूरी

यह अध्ययन जर्नल ऑफ ऑक्युपेशनल हेल्थ साइकोलॉजी में प्रकाशित किया गया है. शोधकर्ताओं ने कुल 344 शादीशुदा जोड़ों के ऊपर इस शोध को अंजाम दिया. प्रतिभागियों में सभी पूर्णकालिक कर्मचारी थे और घर पर कार्यालय के काम के उद्देश्य से मोबाइल डिवाइसों या टैबलेट का प्रयोग करते थे. सर्वेक्षण के नतीजों में पाया गया कि पारिवारिक वक्त में मोबाइल फोन का प्रयोग करने से नौकरी से संतुष्टि में कमी आती है साथ ही नौकरी में प्रदर्शन भी प्रभावित होता है.

शोधकर्ताओं ने कहा, “यह वास्तव में कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि जब पति/पत्नी घर पर मोबाइल डिवाइस का प्रयोग करते हैं तो उनके साथी के साथ संघर्ष पैदा होता है. वे कई बार पारिवारिक समय पर काम संबधी गतिविधियों में व्यस्त हो जाते हैं. जो अंतत: काम और जीवनसाथी दोनों के लिए समस्या पैदा करता है.”

शोधकर्ताओं ने कहा, “इसलिए जो कंपनियां कर्मचारियों द्वारा मोबाइल डिवाइस द्वारा घर से काम करने की परवाह करती हैं या नहीं करती हैं, उन कंपनियों को यह जानना चाहिए कि गैर-कार्य घंटों के दौरान उनके अपने कर्मचारियों के साथ संपर्क से जो तनाव पैदा है, आखिरकार वह कर्मचारियों के काम और जीवन दोनों में परेशानी पैदा करता है.”