पुरे देश में भीषण गर्मी का क़हर जारी है। ओड़िशा का टिटलागढ़ इलाके में पारा 48.5 डिग्री के पार कर गया है। पिछले तीन दिन से यहां का तापमान 46 डिग्री से ऊपर चल रहा है। जबकि असम के चार जिलों में बाढ़ आने से करीब 45,000 लोग प्रभावित हुए है। टिटलागढ़ में पिछले कई दिनों से तेज लू चल रही है और इस कस्बे में अप्रैल महीने के लिए पिछले 17 साल में उच्चतम तापमान दर्ज किया गया। इससे पहले टिटलागढ़ इलाके में 30 अप्रैल 1999 में तापमान 48 डिग्री के पार गया था।

बता दे कि पूरे ओडिशा में अब तक लू और गर्मी से 88 लोगों की मौत हो चुकी है। गर्मी की वजह से यहां के कई इलाकों में पानी का स्तर बहुत कम हो गया है। ओडिशा के अलावा देश के कई राज्यों में भीषण गर्मी पड़ रही है। गौरतलब है कि भुवनेश्वर में मौसम विभाग के निदेशक शरद साहू ने कहा कि वर्ष 2003 में पांच जून को टिटलागढ़ में तापमान 50 डिग्री सेल्सियस का स्तर पार कर गया था। यह भी पढ़े-तेलंगाना में भीषण गर्मी से अब तक हुई 65 से ज्यादा लोगों की मौत

वही दूसरी तरफ महाराष्ट्र, तेलंगाना, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल में गर्मी से बुरा हाल है। इन राज्यों के कई शहरों में तापमान 43 डिग्री से 46 डिग्री तक है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले तीन चार दिनों तक ऐसे ही हालात बने रहेंगे।

झारखंड में गर्मी की वजह से यहां की राजधानी रांची और उसके आसपास के इलाके में पानी संकट है। कई इलाकों में पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही है। जलस्तर कम हो गया है। लिहाज़ा यहां के स्कूलों में भी पानी नहीं मिल पा रहा है।

बिहार में भी तेज लू चल रही है। हालांकि राजधानी पटना सहित कई जगहों पर पारा मामूली रूप से गिरा है। राज्य में रविवार को लगातार दूसरे दिन पटना सबसे गर्म स्थान रहा जहां का अधिकतम तापमान 41.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो शनिवार को 43.3 डिग्री सेल्सियस था। वहीं गया में दिन का अधिकतम तापमान 41.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

देश के अन्य हिस्सों के मुकाबले राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को कम गर्मी रही और यहां का तापमान 37.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जोकि सामान्य से एक डिग्री कम है। मौसम विभाग के मुताबिक, न्यूनतम तापमान 19.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जोकि सामान्य से तीन डिग्री अधिक है। हवा में नमी का स्तर कम रहा और यह 56 और 13 फीसदी के बीच रहा। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने आज आंशिक रूप से बादल छाए रहने और धूल भरी हवाएं चलने का अनुमान जताया है।