गांधीनगर: गुजरात में कोरोना अपने चरम पर है. इससे निपटने के लिए IAS अधिकारियों का एक व्हाट्सऐप ग्रुप बनाया गया लेकिन यह व्हाट्सऐप ग्रुप उस वक्त चर्चा में आ गया जब एक रिटायर IAS अधिकारी ने इस ग्रुप में अपनी न्यूड तस्वीरों को गलती से अपलोड कर दिया. बता दें कि इस ग्रुप में कई महिला अधिकारी भी शामिल हैं. Also Read - EPFO/UAN Mobile Number Update: Epfo में कुछ यूं बदले मोबाइल नंबर, फिर पैसे निकालने होंगे आसान

कई रिटायर जिलाधिकारी व अन्य अधिकारी भी इस व्हाट्सऐप ग्रुप के सदस्य हैं. बता दें कि जिस IAS ने न्यूड तस्वीरों को शेयर किया था वह वर्तमान सराकर में बहुत ही संवेदनशील पर भी तैनात है. व्हाट्सऐप पर अधिकारी द्वारा न्यूड तस्वीरों को शेयर करने के बाद लोगों ने इसपर आपत्ति जताई व इसे फौरन हटाने या डिलीट करने को कहा. हालांकि शुक्रवार की आधी रात तक इस न्यूड तस्वीरों को लेकर ग्रुप में बातचीत चलती रही. Also Read - EPFO/UAN Mobile Number Update: निकालना चाहते हैं EPFO से पैसे, लेकिन भूल गए हैं मोबाइल नंबर, ये है आसान तरीका

इस पूरे प्रकरण में सबसे अजीब बात यह रही कि तस्वीर शेयर करने वाले अधिकारी को इस बारे में किसी प्रकार की जानकारी नहीं थी जब तक कि व्हाट्सऐप ग्रुप के ही एक सदस्य ने फोन कर इसकी जानकारी नहीं दी. हालांकि इस सूचना के मिलते ही रिटायर्ड IAS अधिकारी ने इस तस्वीर को डिलीट कर दिया लेकिन तब तक यह तस्वीर ग्रुप के सभी सदस्यों तक पहुंच चुकी थी. Also Read - 'दलितों और महिलाओं के प्रति 'नफरत फैलाने' वालों पर हो कार्रवाई, ट्विटर, वाट्सऐप, फेसबुक उठाएं कदम'

बता दें कि इस मामले पर एक सेवानिवत मुख्य सचिव, व दिल्ली में मौजूद कुछ अधिकारियों ने आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर रिटायर्ड IAS अधिकारी को खूब फटकार लगाई. यही नहीं यह मामला अब मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंच चुका है, इसमें सिर्फ यह तय करना बाकी है कि क्या रिटायर्ड IAS अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी या नहीं.