नई दिल्ली: देश में फिलहाल 3 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया है. इस दौरान हर जगह सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं. आने जाने वाली गाड़ियों पर भी प्रशासन की नजर है. लेकिन इससे ही जुड़ा एक अफसरशाही का मामला बिहार में देखने को मिला है. यहां एक बुजुर्ग होमगार्ड को ड्यूटी सही तरीके से करने की सजा मिली है. उसके ईमानदारी से किए गए ड्यूटी के अपराध में अधिकारियों ने मिलकर बुजर्ग से उठक-बैठक करवाया और धौंस देते रहें. Also Read - सिर्फ इनर वियर पहन कर कोरोना मरीजों का इलाज कर रही यह नर्स, फोटोज देखकर आप भी हो जाएंगे हैरान

दरअसल बिहार के अररिया जिले में दो होमगार्ड ड्यूटी पर तैनात थे. इस दौरान कृषि विभाग के अधिकारी मनोज कुमार की गाड़ी को होम गार्डों ने रोका और उसकी चेकिंग करने लगे. इस बीच तिलमिलाए अधिकारी होमगार्ड्स पर ही बिफर पड़े और उन्हें धौंस देने लगे. इसके बाद उन्होंने सजा के तौर पर होमगार्डों से उठक बैठक करवाई. Also Read - 54 जिलों से हैं 50% प्रवासी, 44 यूपी-बिहार के ही, PM मोदी का वाराणसी, योगी का गोरखपुर, अखिलेश का इटावा लिस्ट में

बता दें कि यहां मौके पर मौजूद पुलिस के अधिकारी भी कृषि विभाग के अधिकारी मनोज कुमार के समर्थन में खड़े दिखाई दिए. इसके बाद इन अधिकारियों मिलकर बुजुर्ग होमगार्ड से सबके सामने उठक बैठक करवाया. इस मामले के बाहर आते ही अररिया पुलिस अधीक्षक धूरत सयाली ने फौरन संज्ञान लेते हुए जांच का आदेश जारी कर दिया है.