नई दिल्‍ली: भारत में सिविल सर्विस एग्जाम क्लियर करना कितना मुश्किल है, इसके बारे में सभी जानते भी हैं और बेहतर ढंग से समझते भी हैं. एक बार अगर किसी ने इस एग्जाम को क्लियर कर लिया, समझिए उसकी जिंदगी ही बदल गई. ऐसे में अगर कोई आईएएस अफसर बनने के बाद नौकरी छोड़ने का फैसला ले तो आप उसे क्या कहेंगे.

जी हां, हाल ही में आईएएस अफसर कनन गोपीनाथ ने अपनी नौकरी छोड़ने का फैसला लिया है, लेकिन अब वह यह नौकरी छोड़कर काफी पछता रहे हैं. क्योंकि नौकरी छोड़ने से पहले उन्होंने यह नहीं सोचा था कि इसके बाद उन्हें मिलने वाली सभी सुविधाएं भी खत्म कर दी जाएंगी और अपने गंदे कपड़े भी उन्हें खुद ही साफ करने पड़ेंगे.


दलदल में फंसे हाथी को निकालने में अधिकारियों की फूलीं सांसे, देखें VIRAL VIDEO

कननन गोपीनाथन (Kananan Gopinathan) ने इस हाई-प्रोफाइल जॉब को छोड़ने से पहले शायद यह नहीं सोचा होगा कि गंदे कपड़े उनकी सबसे बड़ी समस्‍या बन जाएंगे. हाल ही में कनन गोपीनाथ ने एक ट्वीट के जरिए अपनी समस्या साझा करते हुए लोगों को सलाह दी है कि, अगर आप अपनी नौकरी छोड़ते हैं तो इसका फैसला लेने से पहले एक वॉशिंग मशीन जरूर खरीद लें, क्योंकि ऐसा न करने पर आपको हाथों से कपड़े धोने पड़ेंगे, जो कि बेहद मुश्किल काम है.

कन्नन गोपीनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “आईएएस की नौकरी छोड़ने के बाद मुझे जिस चीज का सबसे ज्‍यादा अफसोस होता है वह यह कि हर टूर के बाद मुझे अपने कपड़े खुद ही धोने पड़ते हैं. जो कोई भी नौकरी छोड़ने के बारे में सोच रहा है वह वॉशिंग मशीन खरीदे बिना ऐसा बिलकुल न करे. मैं फिर से दोहराता हूं. जब तक आप वॉशिंग मशीन न खरीद लें तब तक नौकरी न छोड़ें.”

आपको बता दें कि गोपीनाथ 2012 बैच के आईएएस ऑफीसर हैं और जम्मू कश्मीर राज्य से 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. कश्मीर में 5 अगस्त के बाद सरकार द्वारा लगाई गई पाबंदी को कन्नन ने मौलिक अधिकारों का हनन बताया था. उन्होंने अपने एक बयान में कहा था कि मैं IAS अधिकारी इसलिए बना था कि लोगों कि आवाज बन सकूं, लेकिन जब मेरी आवाज ही खामोश हो गई है तो नौकरी करने का क्या फायदा.