Independence Day 2020: कोरोना संक्रमण की वजह से जिंदगी में सब कुछ बदला नजर आ रहा है. जमीन के हर कोने पर कोरोना ने अपनी परछाई छोड़ रखी है. 15 अगस्त को नीले आसमान में उड़ने वाली पतंगों के जरिये कोरोना से बचाव के उपाय दिए जाएंगे. उपाय के साथ ये कोशिश भी रहेगी कि जिस घर में पतंग कट कर गिरे वो घर कोरोना मुक्त हो जाए. Also Read - Bihar Assembly Elections 2020: बिहार चुनाव में कैसे वोट डालेंगे कोरोना के मरीज? निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला

पुरानी दिल्ली के निवासी मोहम्मद तकी ने इस बार कोरोना से आजादी दिलाने और लोगों को जागरूक करने के लिए एक अभियान चलाया है. जिसमें वो पुरानी दिल्ली के निवासियों को 5 हजार पतंग फ्री में बाटेंगे. फिलहाल अब तक ढाई हजार पतंग वो बांट भी चुके हैं. Also Read - Coronavirus vaccine in India Latest Updates: भारत में कब आएगा कोरोना का टीका? स्वास्थ्य मंत्री ने लिखित में दिया जवाब

उन्होंने सभी 5 हजार पतंगों पर कोरोना को लेकर संदेश दिया है. पतंगों पर दिए गए संदेशों में 10 बिंदुओं को रखा है. इसमें कोरोना के क्या-क्या लक्षण होते हैं, कोरोना से कैसे बचाव किया जाए, खुले में न थूकना, सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करना, सैनिटाइज करना, हाथों को किस तरह धोएं इसका भी जिक्र किया गया है. Also Read - Delhi Schools Reopen News : दिल्ली में 21 सितंबर से नहीं खुलेंग स्कूल, अब अक्टूबर में इस तारीख तक रहेंगे बंद सभी स्कूल-कॉलेज

उनका मानना है कि जिस तरह हिंदुस्तान से अंग्रेजों को खदेड़ा था, उसी तरह इस साल स्वतंत्रता दिवस पर कोरोना को हिंदुस्तान से खदेड़ा जाए. वहीं जिस घर में पतंग कट कर गिरे, उस घर को कोरोना से आजादी मिल जाये. इसी मकसद से मोहम्मद तकी इस अभियान को चला रहें हैं.

दरअसल जश्न-ए-आजादी पर पतंग उड़ा कर सभी आजादी का उत्सव मनाते हैं. यही वजह है कि पुरानी दिल्ली में 15 अगस्त को हजारों की संख्या में पतगें उड़ाई जाती हैं.

मोहम्मद तकी इस बार पतंगों पर स्टीकर चिपकाकर संदेश दे रहें हैं। 2 साल पहले भी तकी ने देश में मॉब लिंचिंग को लेकर संदेश दिया था.

मोहम्मद तकी ने बताया, मैं पतंगों के माध्यम से लोगों को कोरोना के बारे में जागरुक करना चाहता था, यही वजह है कि मुहिम की शुरुआत की.

उन्होंने बताया कि, हर साल कुछ ना कुछ अलग करने की कोशिश रहती है, इस बार देश में कोरोना महामारी बुरी तरह फैली हुई है. लोग परेशान हैं, कई लोगों के रोजगार चले गए हैं. मैं पतंगों के जरिए कोरोना संक्रमण से बचाव का संदेश देना चाहता था, जो कि इस वक्त बहुत जरूरी है.

उन्होंने बताया, पतंगों पर जो स्टीकर लगाए गए हैं, उनमें 10 संदेश शामिल हैं. हमने कई बार देखा है कि लोग बुखार आने पर तुरन्त अस्पताल चले जाते हैं. मैंने इसको लेकर भी संदेश दिया है. कोरोना के लक्षण क्या होते हैं, ये दर्शाया है। ताकि जब लोग पढ़ें तो उनके जहन में कोरोना के बारे में सही संदेश जाए और छोटी-छोटी बात पर अस्पताल न जाएं.

हालांकि मोहम्मद तकी चाइनीज मांझे को लेकर भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं. ये अपील कर रहा हूं कि इस बार स्वतंत्रता दिवस पर चाइनीज मांझें का इस्तेमाल न करें. चाइना ने हमारे देश को बहुत नुकसान पहुंचाया है और जिस तरह सरकार चाइनीज सामान बॉयकॉट के तहत काम कर रही है उसी तरह हम भी चाइनीज मांझे को बॉयकॉट करें.
(एजेंसी से इनपुट)