ह्यूस्टन: अमेरिका में भारतीय मूल के एक अमेरिकी बच्चे ने प्रतिष्ठित ‘स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी ’ का खिताब जीता है. ‘कोईनोनिया’ का सही हिज्जे बताकर 14 साल के कार्तिक नेम्मानी इस पुरस्कार के हकदार बने. उन्हें करीब 42,000 डॉलर नकद और ढेरों पुरस्कार मिले हैं. कोईनोनिया का अर्थ ईसाई मेलजोल या समागम होता है. कार्तिक इस खिताब को पाने वाले पिछले लगातार 11 सालों में इस समुदाय के 14 वें विजेता हैं.

प्रतियोगिता के दौरान कई दौर चली प्रतिस्पर्धा में टेक्सास के मैककिन्नी के रहने वाले आठवीं कक्षा के कार्तिक का मुकाबला अन्य भारतवंशी अमेरिकी छात्र न्यासा मोदी से था. कार्तिक और न्यासा 516 स्पेलर में से अंतिम दो बच्चे ऐसे बचे थे जो भारतीय थे. कार्तिक ने बताया कि, मुझे विश्वास था कि मैं ये कर लूंगा लेकिन मुझे लगा नहीं था कि ये सच हो जाएगा.

कार्तिक को इनाम के तौर पर 42,000 डॉलर की प्राइज मनी, न्यूयॉर्क और हॉलीवुड का टूर और उसके स्कूल के लिए पिज्जा पार्टी की भी घोषणा की गई. प्रतियोगिता के अंत तक कुल 516 में से 41 प्रतिष्पर्धी पहुंचे थे. 16 फाइनलिस्ट में सभी 11 से 14 वर्ष की उम्र तक के बच्चे थे. इसमें 9 लड़कियां और 7 लड़के थे.

कार्तिक को स्पेलिंग के अलावा टेनिस खेलना पसंद है और शिकागो बुल्स देखना पसंद है. साथ ही उसे रोबोटिक्स भी पसंद है. बताया जाता है कि नेशनल बी कांपटीशन एक उच्च स्तरीय स्पेलिंग की प्रतियोगिता है जिसमें भाग लेने के लिए प्रतिभागी महीनों तैयारी करते हैं. तैयारी के दौरान कई लोगों को टीवी कैमरा के सामने हेडफोन लगाए हुए देखा जा सकता है। मुख्य रूप से स्पेलर कनाडा और अमेरिका से होते हैं। 93 सालों से अमेरिका के मैरीलैंड के कंवेंशन सेंटर और गेलॉर्ड नेशनल रिजॉर्ट में ये प्रतियोगिता आयोजित करवाई जाती है.