Ram Mandir Bhoomi Pujan: राम की नगरी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की आधार शिला रखी जा रही है. मंदिर निर्माण के पूरे हो रहे अभियान में अनेक लोगों का योगदान रहा है. मध्य प्रदेश पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) राजा बाबू सिंह भी उन्हीं में से एक हैं, जिन्होंने छात्र जीवन में वर्ष 1992 में अयोध्या में कारसेवक की भूमिका निभाई थी. Also Read - PM Narendra Modi Birthday: रिया को लेकर पीएम मोदी के मन की बात, देखें श्याम रंगीला का मजेदार Video

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के निवासी राजोबाबू सिंह वर्तमान में पुलिस मुख्यालय में सामुदायिक पुलिस के एडीजी हैं. वे उन दिनों इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र हुआ करते थे और हजारों कारसेवक अयोध्या गए थे. उनके कई साथी छात्र भी वहां गए तो सिंह भी उनके साथ अयोध्या जा पहुंचे. Also Read - Happy B'day PM Narendra Modi: ये हैं पीएम मोदी की कुछ Unseen Pics, फोटो में देखें छात्र से लेकर पीएम बनने तक का सफर

सिंह वर्ष 1992 के दौर केा याद करते हुए कहते हैं, ” श्रीराम जन्मभूमि को देखने और रामलला के दर्शनों की अभिलाषा हमेशा से मन में थी. अयोध्या जाने का मौका मिला नहीं था. कारसेवा के समय अपने साथियों के साथ अयोध्या केा चल दिए क्योंकि रामजन्म भूमि और रामलला के दर्शनों की मन उठ रही हिलोरे वहां जाने के लिए मजबूर कर रही थीं. ईश्वर के प्रति अगाध आस्था हमेशा रही और उस अवसर ने प्रेरित करने का काम किया.” Also Read - Who Is Shwetank: कौन है वाराणसी के श्वेतांक, जिनकी PM Modi ने की तारीफ

उन्होंने बताया कि मत्था टेककर रामलला के दर्शन भी किये और उनसे प्रार्थना भी की कि आपकी कृपा से आपका यहां भव्य मंदिर बने. अब वह सपना पूरा हो रहा है जब 28 साल बाद पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करेंगे.

एडीजी सिंह का कहना है समूचे देशवाशियों चाहें वह किसी भी जाति या समुदाय का हो, सभी के लिए गर्व का विषय है. भारतीय संस्कृति के लिये क्लाइमेक्स का समय है, जब प्रधानमंत्री आधारशिला रखेंगे.

सिंह भले ही अब प्रदेश के पुलिस महकमे के बड़े औहदे पर हो मगर आनन्दित हैं और रोमांचित भी. उनका कहना है कि आखिर ऐसा हो भी क्यों न क्योंकि उनका ही नहीं हर देशवासी का सपना जो साकार हो रहा.