नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर तस्वीर तो आप आए दिन शेयर करते होंगे. लेकिन कभी आपको आपके शेयर किए गए फोटोज के आधार पर कोर्ट सजा और कोड़े मारने का फरमान जारी कर दे तो क्या होगा. कुछ ऐसा ही मामला ईरान से सामने आया है. यहां ईरान के सैयद अहमद मोइन शिराजी Seyed Ahmad Moinshirazi और उनकी पत्नी शबनम शाहरोखी को कोर्ट ने सजा का पात्र माना है और उन्हें 16 साल की जेल और 74 कोड़े मारने की सजा सुनाई है. Also Read - Global day of parents पर सचिन तेंदुलकर की सलाह- इस मुश्किल समय में माता-पिता का ध्यान रखें

हालांकि सजा ऐसे वक्त पर सुनाई गई है जब दंपत्ति ईरान में मौजूद नहीं है. क्योंकि शिराजी और उनकी पत्नी 2019 में ईरान छोड़कर तुर्की में जा चुके हैं. बता दें कि बिना हिजाब की तस्वीरों को शेयर करना, वेस्टर्न कपड़ों में तस्वीरों को शेयर करना व राजनीतिक विचारधारा पर खुलकर बोलना शबनम के लिए महंगा साबित हुआ है. बता दें कि शिराजी सोशल मीडिया इंफ्लूएंसर, पूर्व किक बॉक्सिंग चैंपियन और इंटरप्रेन्योर हैं. शिराजी की एक पोस्ट को खंगालने पर पता चला कि उनकी पत्नी शबनम पर सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार और अश्लील तस्वीरों को शेयर करने के आरोप लगाए गए हैं. Also Read - यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए जेल

  Also Read - आ गया Facebook Shop, वर्चुअल दुकान से करें खरीदारी, जानें कैसे...?

View this post on Instagram

 

ميگم تا زمانيكه بچه نداريد حسابى از لحظه لحظه زندگيتون استفاده كنيد. نميخوام بترسونمتون ولى خب بعد از اومدن بچه يا بچه ها زندگى تغييرات اساسى و بنيادينى ميكنه. نه اينكه بد باشه ها نه، ولى خب ديگه هيچوقت مثل قبلش نميشه و هيچ دگمه ريوِرس و عقب گردى هم دركار نيست 😂🤪🤗😍 ما كه هروقت فرصتى پيدا ميكنيم حتى در حد چند ساعت هم نهايت استفاده رو ازش ميكنيم 😈 بخصوص الان كه ديگه از ايران هم دوريم و خب بيشتر از قبل دست تنهاييم. ولى خب اين هم قسمتى از پروسه زندگى است و زيبايى هاى خودش رو داره ديگه 🥴 خلاصه اينكه تا فقط خودتونيد حسابى براى خودتون وقت بذاريد. از ما گفتن بود ❤️😍🌹

A post shared by Seyed Ahmad Moinshirazi (@picassomo) on

शिराजी के इंस्टाग्राम को चेक करने पर पता चला के उनके दो बच्चे भी हैं. शिराजी ने ईरान छोड़ने को लेकर कहा कि वहां कि सरकार हमें दोषित साबित करने पर तुली हुई थी, इस कारण हमने ईरान छोड़कर तुर्की में बसने का फैसला किया. अगर ईरानी कोर्ट द्वारा दिए गए सजा की बात करें तो शिराजी को 9 साल और उनकी पत्नी शबनम को 7 साल की सजा सुनाई गई है. इसी के साथ यह कुल 16 साल की सजा हो जाती है. वही एक अन्य सजा कोड़ों की सुनाई गई है. जेल में सजा काटने के अलावा कोर्ट ने 74 कोड़े की सजा भी सुनाई है.