जयपुर: पाकिस्तान की एक जेल में बंद जयपुर के गजानंद शर्मा की रिहाई 13 अगस्त को होने की उम्मीद है. केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने इस आशय का आश्वासन गुरुवार को जयपुर के सांसद रामचरण बोहरा की अगुआई में उनसे मिलने आये प्रतिनिधिमंडल को दिया.

बोहरा की अगुआई में हवामहल विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुरेन्द्र पारीक, गजानंद शर्मा की पत्नी मखनी देवी, उनके बेटे मुकेश शर्मा और अन्य लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल विदेश राज्यमंत्री सिंह से मिला था. बोहरा ने बताया कि सिंह ने उन्हें आश्वस्त किया है कि लाहौर की जेल में बंद गजानंद को 13 अगस्त को रिहा कर दिया जायेगा. मुकेश शर्मा ने इस घटनाक्रम पर खुशी जताते हुए कहा कि मंत्री ने उन्हें बताया है कि उनके पिता गजानंद की 13 अगस्त को पाकिस्तान की जेल से रिहाई हो जायेगी और भारत आने में दो-तीन दिन का समय लगेगा.

गौरतलब है कि 68 वर्षीय गजानंद पिछले 36 साल से पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में बंद हैं. बोहरा के अनुसार उन्हें सिर्फ दो माह की सजा हुई थी लेकिन ‘काउंसलर एक्सेस” नहीं होने के कारण वह 36 साल से जेल में बंद हैं. जयपुर के ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र निवासी गजानंद 1982 में घर से अचानक लापता हो गए थे. विधायक सुरेंद्र पारीक ने नई दिल्ली से बताया जनरल सिंह ने पाकिस्तान जेल में बंद गजानंद की रिहाई 13 अगस्त को किये जाने का आश्वासन प्रतिनिधिमंडल को दिया है.

वर्ष 1982 में घर से अचानक लापता हुए गजानंद के बारे में परिजनों को उनके पाकिस्तान जेल में होने की जानकारी उस समय लगी जब मई में पुलिस अधिकारियों ने परिजनों से गजानंद की राष्ट्रीयता के बारे में पुष्टि करने के लिए सम्पर्क किया और उन्हें बताया कि वह पाकिस्तान जेल में बंद है.