नई दिल्ली: गत एशियाई चैंपियन गोपी थोनाकल ने अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए आज यहां आईडीबीआई फेडरल लाइफ इंश्योरेंस नई दिल्ली मैराथन का अपना पुरुष वर्ग का खिताब बरकरार रखा. गोपी ने दो घंटे 15 मिनट और 16 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता लेकिन भारतीय एथलेटिक्स संघ द्वारा तय राष्ट्रमंडल खेलों के क्वालीफाइंग स्तर से चूक गए. नितेंद्र सिंह रावत दो घंटे 24 मिनट और 55 सेकेंड के साथ दूसरे स्थान पर रहे जबकि बहादुर सिंह धोनी ने दो घंटे 24 मिनट और 56 सेकेंड के साथ कांस्य पदक जीता. जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में सुबह साढे चार बजे क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मैराथन को हरी झंडी दिखाई.

गोपी ने दो घंटे 15 मिनट और 25 सेकेंड के अपने निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में सुधार किया जो उन्होंने 2016 ओलंपिक के दौरान किया था. वह हालांकि गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के लिए एएफआई द्वारा तय दो घंटे 12 मिनट और 50 सेकेंड के क्वालीफाइंग स्तर से थोड़े दूर रहे. मैराथन के बाद सचिन ने अपने खास फैन गुड्डू पवार से मुलाकात की, गुड्डू स्पेशली एबल्ड रनर हैं. गुड्डू से मुलाकात की तस्वीर पोस्ट करते हुए सचिन ने लिखा, ”चैंपियन खुद में यकीन करते हैं चाहे कोई और करे या न करे, गुड्डू से मिलकर बहुत अच्छा लगा, मेरी शुभकामनाएं हमेशा”.

महिला वर्ग में मोनिका अथारे ने दो घंटे 43 मिनट और 46 सेकेंड के साथ अपना खिताब बरकरार रखा. उन्होंने पिछले साल की उप विजेता ज्योति गावटे (दो घंटे 50 मिनट और 12 सेकेंड) और मोनिका राउत (दो घंटे 55 मिनट और दो सेकेंड) को पछाड़ा. लगभग 42 किमी की पूर्ण मैराथन में लगभग 165 एलीट भारतीय धावकों ने हिस्सा लिया.

इनपुट: (भाषा)