नई दिल्ली: 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 जवानों की शहादत से पूरा देश अब तक सदमे में हैं. शहीदों के परिजनों का बुरा हाल है. वहीं, मुंबई में रहने वाली शहीद की पत्नी ने दो साल के अंदर ही वो कर दिखाया, जिसके लिए सब उनके जज़्बे को सलाम कर रहे हैं. अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए मेजर प्रसाद महादिक की पत्नी गौरी महादिक भी सेना से जुड़ने जा रही हैं. गौरी लेफ्टिनेंट के रूप में इंडियन आर्मी जॉइन करेंगी. उन्होंने एसएससी की परीक्षा की. वह जल्द ही चेन्नई में स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी में प्रशिक्षण लेंगी. 49 हफ़्तों की ट्रेनिंग दी जाएगी. Also Read - आर्मी को मिले खराब गोला-बारूद से इतना बड़ा नुकसान, खरीदी जा सकती थीं 100 आर्टिलरी गन

सेना से जुड़ने के लिए छोड़ दी नौकरी
मेजर प्रसाद महादिक ने 2012 में आर्मी जॉइन की थी. वह अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारत-चीन सीमा पर तैनात थे. इसी दौरान दिसंबर, 2017 को हुई फायरिंग में वह शहीद हो गए थे. मुंबई के विवार में अपनी ससुराल में रहने वाली उनकी पत्नी गौरी महादिक ने पति को अलग तरीके से श्रद्धांजलि देने का फैसला किया. उन्होंने शहीदों की विधवाओं के लिए आयोजित कराई जानी वाली एसएसबी की परीक्षा में हिस्सा लिया और इसे क्वालीफाई भी कर लिया है. गौरी अब आर्मी अफसर बनेंगीं. आर्मी जॉइन करने के लिए गौरी एक लॉ फर्म की नौकरी भी छोड़ दी थी. Also Read - कश्मीर: शोपियां मुठभेड़ केस में ‘समरी ऑफ एविडेंस’ कार्रवाई शुरू, सैनिकों ने नियमों से हटकर तीन लोगों को मारा था

गौरी की मेजर प्रसाद से 2015 में शादी हुई थी.

2015 में की थी शादी, कहा- पति की यूनिफॉर्म पहनूंगी
2015 में गौरी महादिक की शादी मेजर प्रसाद से हुई थी. शादी के दो साल बाद ही गौरी ने पति को खो दिया. पति को खोने के दो साल में ही वह आर्मी जॉइन कर रही हैं. गौरी महादिक ने कहा कि वह जल्द ही आर्मी जॉइन करेंगी. गौरी ने बताया कि जब पति शहीद हुए तो 10 दिन बाद उन्होंने ये फैसला कर लिया था. वह तभी सोचने लगी थीं कि वह पति के लिए क्या करेंगी. Also Read - LAC पर भारतीय सेना ने की भीष्म टैंक की तैनाती, कुछ ही मिनट में दुश्मन के गढ़ को कर सकता है तबाह

वह कहती हैं कि ‘मैंने पति के लिए कुछ करने का फैसला लिया और अब फोर्स जॉइन करूंगा. मैं उनकी यूनीफॉर्म पहनूंगी उनके स्टार्स पर लगाउंगी. उन्होंने कहा कि अभी ट्रेनिंग होगी इसके बाद अगले साल सेना में लेफ्टिनेंट के तौर पर नया सफर शुरू करूंगी.’