भारत में दीपावली का त्यौहार सबसे बड़ा पर्व माना गया है। यह केवल कहने की बात नहीं है, इस त्यौहार को जिस हर्षोल्लास से लोग मनाते हैं उसी से इसका महत्व उजागर हो जाता है। जो लोग इस पर्व के शास्त्रीय महत्व को समझते हैं वो उसका पालन भी करते हैं।  असल में दीपावली दिन लक्ष्मी पूजन का है, या यूं कहे कि धन की देवी को घर पर आमंत्रित करने के लिए ही इतनी तैयारियां की जाती हैं। यदि इस वर्ष दिवाली पर आप भी कैसे भी करके मां लक्ष्मी की कृपा पाना चाहते हैं, तो हम बता रहे हैं आपको कुछ उपाय- Also Read - चीन से विवाद के बीच मिट्टी के दीयों के अच्छे दिन आने की उम्मीद, बिक्री 3 गुना बढ़ने के आसार

Also Read - Indian Railway: रेलवे का यात्रियों को तोहफा, छठ-दीपावली से पहले इन रूट्स पर चलाई जाएंगी ट्रेनें, देखें लिस्ट

यदि आप वास्तु शास्त्र के बारे में थोड़ा-बहुत भी जानते हैं तो आपको ये बात पता होगी कि वास्तु में घर-दुकान के मेन गेट का विशेष महत्व होता है। इसलिए दिवाली पर मां लक्ष्मी को खुश करने के लिए मेन गेट की साफ-सफाई से लेकर दरवाजे को सजाने का खास ध्यान रखा जाता है। तो जानिए कि ऐसी 6 चीजें जो वास्तु के अनुसार, घर-दुकान के मेन गेट के पास रखने से देवी लक्ष्मी की विशेष कृपा मिलती है और घर-परिवार को पैसों से लेकर अच्छी सेहत तक सब कुछ मिलता है। Also Read - School Reopening News: दिवाली से पहले इस राज्य में नहीं खुलेंगे स्कूल, शिक्षा मंत्री ने इसको लेकर कही ये बात

धनतेरस या दीवाली पर घर या दुकान के मुख्य द्वार के पास किसी बर्तन में पानी भरकर उसमें फूल डाल दें। पानी और फूल से भरे इस बर्तन को गेट के पूर्व या उत्तर दिशा में रखें। ऐसा करने से घर के मुखिया को कई फायदे होंगे। यह भी पढ़ें: जीवन की हर बाधा से मुक्ति दिलाए हनुमान जी का यह मंत्र

धनतेरस या दीवाली पर घर के मेन गेट पर मां लक्ष्मी के पैर का चिन्ह लगाना बेहद शुभ होता है। ध्यान रखें कि पैर की दिशा अंदर की तरफ ही रहे यानि जैसे मां लक्ष्मी घर में प्रवेश कर रही हों। इससे घर में धन की कमी नहीं होती।

दीवाली से पहले घर के दरवाजे पर सुंदर तोरण बांधना चाहिए। बाजार में मिलने वाले तोरण की जगह अगर तोरण आम की पत्ती, पीपल या अशोक के पत्तों से खुद घर पर बनाया गया है तो और भी अच्छा होगा। इन सभी चीजों से बने तोरण से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं आती।

दीवाली पर घर या दुकान के मेन गेट के ऊपर मां लक्ष्मी की ऐसी तस्वीर लगाएं जिसमें मां कमल के फूल पर विराजित हों। ऐसा करने से घर-परिवार को कई शुभ फल मिलते हैं।

घर या दुकान के दरवाजे पर चांदी का स्वास्तिक लगाना शुभ फलदायक माना जाता है। वास्तु के अनुसार इससे घर में बीमारी नहीं आती। यदि आप चांदी का स्वास्तिक नहीं बनवा सकते तो लाल कुमकुम से भी स्वास्तिक बना सकते हैं। दोनों का प्रभाव बराबर होता है। चांदी का बना स्वास्तिक ज्यादा समय तक टिकाऊ होता है जबकि कुमकुम के स्वास्तिक को आपको कुछ समय बाद फिर से सुधारना होगा।

घर या दुकान के मेन गेट पर ओम का चिन्ह बनाएं या शुभ-लाभ लिखें। आपने कई जगह दुकान या माकानों में बना देखा भी होगा। ध्यान रखें ये चिन्ह दरवाजे के पूर्व या उत्तर दिशा की ओर ही बनाएं। ऐसा करने से घर में कोई बीमारी ज्यादा समय तक नहीं रहती है।