Pashupatinath Temple: देश में इस समय पशुपत‍िनाथ मंद‍िर की चर्चा है. चर्चा का व‍िषय है इस मंद‍िर की घंटी. इसकी तस्‍वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं. हो भी क्‍यों ना, इस घंटी को बनाया है नाहरू खान ने. Also Read - Covid-19: रूस को पीछे छोड़ दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत

देश में मंद‍िर तो खुले पर कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए मंदिरों में घंटी बजाने पर रोक लगी है. जब ये खबर मध्‍य प्रदेश के नाहरू खान को लगी, तो उन्‍होंने इसकी एक तरकीब खोज न‍िकाली. Also Read - Coronavirus in Rajasthan Update: राजस्थान में नहीं थम रहा कोरोना से मौत का सिलसिला, मरने वालों की संख्या 450 के पार

उन्‍होंने ऐसा सेंसर बना द‍िया, जो घंटी के नीचे हाथ रखने से ही बजने लगता है. यानी घंटी ह्यूमन सेंसर की तरह काम करती है. इसे छूना नहीं होता. Also Read - Coronavirus In India Update: कोरोना के ये हैं सबसे ज्यादा डरावने आंकड़े, 24 घंटे में 613 लोगों की मौत

ये घंटी एक ऑटोमेटिक सेंसर मशीन है. नाहरू खान ने इस मशीन को तैयार क‍र इसे पशुपतिनाथ मंदिर को दान कर दिया. मंदिर में घंटी लगते ही लोगों की खुशी का ठिकाना ना रहा.

अब लोग इस घंटी की तस्‍वीरें और वीड‍ियो खूब शेयर कर रहे हैं.

पूरे देश में नाहरू खान की तारीफ हो रही है. नाहरू ने ह‍िंदू-मुस्‍लिम एकता की मिसाल कायम कर दी है.