Chandni Chowk: चांदनी चौक अब पूरी तरह से बदलने वाला है. शॉपिंग करने वाले लोगों को यहां की तंग गलियों में धक्के खाने की जरूरत नहीं होगी. वे सुकून से शॉपिंग कर सकेंगे. पहले की तरह अब आपको गाड़ियों के शोर सुनाई नहीं देगा, साथ ही सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक नॉन मोटराइज्ड व्हीकल एरिया रहेगा. Also Read - Chandni Chowk Street Food: जा रहे हैं चांदनी चौक तो जरुर खाएं ये मशूहर स्ट्रीट फूड, लजीज है इनका स्वाद

चांदनी चौक पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण योजना के पूरा होने के बाद यहां की ऐतिहासिक शोभा वापस आएगी. हालांकि लॉकडाउन से पहले यहां रोजाना करीब 7 लाख लोगों का आवागमन होता था. इस बाजार में दूर दराज से लोग घूमने आते हैं. Also Read - Delhi Elections 2020: कांग्रेस ने किया 54 उम्मीदवारों का ऐलान, अलका लांबा को दिया इस सीट से टिकट

परियोजना पूरी होने के बाद चांदनी चौक मेन रोड पर ई-रिक्शा नहीं चलेंगे. यह पूरी तरह से पैदल चलने वालों के लिए होगा. चांदनी चौक के अंदर आने-जाने के लिए केवल रिक्शा उपलब्ध होंगे. इसमें भी एमसीडी ने जितने रिक्शे रजिस्टर्ड किए हैं, वही चलेंगे. Also Read - आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देने के एक महीने बाद कांग्रेस में शामिल हुईं अलका लांबा

पहले जहां चादनी चौक पर आपको जगह जगह बिजली के तार और टूटी हुई पाइप-लाइन दिखाई पड़ती थी, वो अब दिखाई नहीं देगी. लोगों को सिर्फ अब एक सुंदर सी लाल सड़क दिखाई पड़ेगी. सड़कों पर पेड़ पौधे भी लगाए गये हैं जो इन सड़कों की शोभा बढ़ा रहे हैं.

चांदनी चौक सर्व व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय भार्गव ने बताया, चांदनी चौक पूरी तरह से बदलने जा रहा है. नवंबर तक बचा हुआ काम खत्म हो जाने की उम्मीद है. बाजार सुंदर होने से लोग आकर्षित होंगे और यहां के व्यापार में बढ़ोतरी होगी.

बाजार में लोगों को अब सहूलियत हो जाएगी. पहले लोगों को परेशानी होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. चौड़ी सड़कें और गाड़ियों के न होने से लोग आसानी से बाजार में घूम सकेंगे.

लाल किले के सामने बन रही इस नई सड़क पर सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक किसी भी प्रकार के वाहनों को एंट्री नहीं मिलेगी. अगर कोई वाहन प्रतिबंधित इलाके में जाता है, तो उस पर 20 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.
(एजेंसी से इनपुट)