Who Is Suman Devi: जब से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में सुमन देवी का नाम लिया है, तब से हर कोई ये जानना चाहता है कि सुमन देवी हैं कौन. आखिर वो क्या करती हैं, जिसकी वजह से उनका नाम पीएम मोदी ने लिया. Also Read - देश में फिर लगेगा Lockdown या Covid Vaccine पर होगी चर्चा? PM मोदी की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक आज

कौन हैं सुमन देवी
सुमन देवी उत्तर प्रदेश के बाराबंकी की रहने वाली हैं. वे मास्क बनाने का काम करती हैं. पेशे से टेलर हैं. पीएम ने बाराबंकी के महिला स्वयं सहायता समूहों की प्रशंसा करते हुए सुमन के नाम का उल्लेख किया था. बाराबंकी में त्रिवेणीगंज ब्लॉक के गुरुदत्त खेड़ा की रहने वाली सुमन देवी ने सुभद्रा देवी, विमला देवी, सुनीता और रेणु सहित 11 अन्य महिलाओं के साथ अगस्त 2016 में ‘मां वैष्णो स्वयं सहायता समूह’ शुरू किया था. यह समूह मास्क बनाने, मिर्च और टमाटर उगाकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने में मदद करता है. Also Read - PM मोदी ने 'मन की बात' में जिस कुत्ते राकेश का किया था जिक्र, मेरठ में उसकी मौत- जानें वजह...

सुमन देवी की खुशी का ठिकाना नहीं
सुमन ने कहा, “इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है कि प्रधानमंत्री ने इस पहल पर ध्यान दिया और इससे हमें कड़ी मेहनत करने का प्रोत्साहन मिला.” Also Read - याहू पर 2020 में सबसे ज्यादा सर्च किए गए सेलेब्स में सुशांत पहले नंबर पर, पीएम मोदी समेत ये हस्तियां हैं टॉप 10 में- See List

सुमन देवी ने कहा, “हमने ब्लॉक के मिशन मैनेजर के साथ मास्क बनाने को लेकर चर्चा की और घर पर खादी मास्क बनाना शुरू किया. शुरू में हमने 70 मास्क बनाए और जरूरतमंद लोगों को वितरित किए.”

लॉकडाउन में ढील मिलने के बाद बाजार से अधिक कपड़ा खरीदकर काम बढ़ाया. इससे समूह की महिलाओं को न केवल आय हुई बल्कि लोगों को कोरोना संक्रमण से लड़ने में भी मदद मिली.

क्यों खास हैं सुमन देवी
स्नातक तक पढ़ी सुमन देवी ने बताया, “हमें शुरू में सामुदायिक निवेश कोष में 1.10 लाख रुपये मिले थे. 4 सदस्यों ने 12,500 रुपये लेकर अपना व्यवसाय शुरू किया. मैं मास्क बना रही हूं, सुनीता ने मिर्च की खेती शुरू कर दी है और रेनू एक नर्सरी में उगाए गए टमाटर बेच रही है. मायावती ने एक किराने की दुकान शुरू की है. सरकार से मिले इस फंड पर ब्याज नहीं लगता लेकिन स्वयं सहायता समूह के सदस्यों ने इसे एक प्रतिशत ब्याज पर लिया है ताकि अन्य सदस्य भी सशक्त बन सकें.”

इस बीच बाराबंकी के जिला मजिस्ट्रेट डॉ.आदर्श सिंह ने स्वयं सहायता समूह के प्रयासों की प्रशंसा करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया है. उन्होंने कहा, “मैं सुमन देवी की कहानी को पूरे देश के साथ साझा करने और हमारे प्रयासों को पहचानने और सराहना करने के लिए प्रधानमंत्री का आभारी हूं. यह साल में तीसरी बार है जब प्रधानमंत्री ने अपने मन की बात कार्यक्रम में बाराबंकी का उल्लेख किया है.”

इससे पहले प्रधानमंत्री ने बाराबंकी में सराही झील और कल्याणी नदी के पुनरुद्धार के लिए जिले की प्रशंसा की थी.
(एजेंसी से इनपुट)