चेन्नई। चेन्नई की केंद्रीय जेल में कैदियों के स्मार्टफोन इस्तेमाल और मनपसंद खाने का स्वाद लेने की तस्वीरें वायरल होने के बाद प्रशासन ने शुक्रवार को जांच शुरू की और अधिकारियों और कैदियों से पूछताछ की जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि तीन सितंबर को पुझल केंद्रीय जेल की तलाशी ली गयी थी और उस दौरान कैदियों से सात मोबाइल जब्त किये गये थे. उनमें से एक से ये तस्वीरें मिलीं.

सनग्लास, ब्रांडेड जूते पहन सेल्फी लेते थे कैदी

इन तस्वीरों में कैदी अन्य कैदियों के साथ सेल्फी लेते हुए, सन ग्लास और ब्रांडेड जूते पहने हुए नजर आ रहे हैं. एक कैदी बैडमिंटन रैकेट लिये हुए खड़ा नजर आ रहा है. एक कैदी एक कोठरी में बिस्तर पर लेटा हुआ है और सामने टीवी है. तस्वीरों में नजर आ रहे कैदी ज्यादातर मादक पदार्थ अपराधी हैं और उन्हें इंडक्शन स्टोव और जूसर जैसी चीजें उपलब्ध हैं.

एक ऐसी जेल जहां कैदियों को हासिल है गृहस्थी बसाने की आजादी, काम पर भी जाते हैं बाहर

एक वरिष्ठ जेल अधिकारी ने कहा कि हम जांच कर रहे हैं, हमने पुलिस में शिकायत भी दर्ज करायी है और एक एफआईआर दर्ज की गयी है. वे भी मामले की जांच कर रहे हैं. इन तस्वीरों का जिक्र करते हुए अधिकारी ने कहा कि ये कम से कम छह महीने पुरानी हैं. लेकिन मोबाइल फोन, टेलीविजन, बेड, मैट्रेस या मेज जैसी चीजें ए श्रेणी के कैदियों के लिए मान्य है, उनके लिए वैध है.

मीडिया में किये गये इस दावे पर कि जब्त मोबाइल फोनों से खाड़ी देशों, मलेशिया और बांग्लादेश में फोन किये गये, एक अन्य जेल अधिकारी ने कहा कि हमने मोबाइल फोन साइबर अपराध पुलिस को सौंप दिये हैं. मामले उनके पास है.