नई दिल्ली. छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और मिजोरम के बाद अब देशभर की नजरें राजस्थान और तेलंगाना के विधानसभा चुनाव पर टिकी हैं. खासकर, राजस्थान पर, क्योंकि इस प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस के बीच जबर्दस्त चुनावी भिड़ंत की बात कही जा रही है. राजस्थान के चुनावी माहौल को देखते हुए एक तरफ जहां देशभर की मीडिया भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों की खोज-खबर लेने में जुटी है, वहीं प्रदेश में चुनाव लड़ रहे कुछ अन्य प्रत्याशी अपने-अपने तरीकों से मतदाताओं को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं. आसींद-हुरड़ा विधानसभा सीट से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) के उम्मीदवार ने तो चुनाव प्रचार के लिए अनोखा तरीका अपनाया. पार्टी के प्रत्याशी ने अपने चुनाव प्रचार के लिए टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) के नाम का सहारा लिया. उसने अखबारों में विज्ञापन छपवाया कि उसके चुनाव प्रचार के लिए वीरेंद्र सहवाग रैली में आ रहे हैं. लेकिन इस झांसे को खुद सहवाग ने पकड़ लिया और विज्ञापन के साथ ट्वीट कर उम्मीदवार को फर्जीवाड़े की पोल खोल दी.

राजस्थान के भीलवाड़ा इलाके की आसींद-हुरड़ा विधानसभा सीट से हनुमान बेनीवाल द्वारा स्थापित पार्टी, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने मनसुख सिंह गुर्जर को चुनाव मैदान में उतारा है. बीते दिनों मनसुख गुर्जर की ओर से एक अखबार में विज्ञापन दिया गया कि 29 नवंबर को आसींद के सवाईभोज मेला ग्राउंड में विशाल किसान सम्मेलन का आयोजन होना है, जिसमें पार्टी के संस्थापक हनुमान बेनीवाल और टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग आएंगे. अखबार में दिए गए इस विज्ञापन में पार्टी के प्रत्याशी समेत हनुमान बेनीवाल और एक अन्य नेता श्रवणलाल गुर्जर की तस्वीर भी छपी है.

राजस्थान चुनाव: ये हैं कांग्रेस और बीजेपी के दिग्गज बागी जो बिगाड़ सकते हैं खेल

RLP के इस विज्ञापन को एकबारगी देखने पर आपको भी भ्रम हो जाएगा कि क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग कब से इस पार्टी के समर्थक हो गए. जाहिर है खुद सहवाग को भी इस बात का अंदाजा नहीं होगा कि राजस्थान में हो रहे विधानसभा चुनाव में उनका कोई परिचित चुनाव लड़ रहा है और वे उसके चुनाव प्रचार के लिए 29 नवंबर को आसींद जाने वाले हैं. ऐसे में जबकि सहवाग अभी T-10 क्रिकेट टूर्नामेंट के लिए भारत से दूर, दुबई में हैं, वे भी इस विज्ञापन को देखकर चौंक गए. सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले सहवाग ने तत्काल इस खबर का खंडन किया. सहवाग ने अपने टि्वटर हैंडल पर RLP के उम्मीदवार के फर्जीवाड़े की पोल खोल दी. सहवाग ने टि्वटर पर लिखा, ‘झूठ अलर्ट- मैं दुबई में हूं और इन्मे से किसी व्यक्ति से कभी सम्पर्क नहीं हुआ! जब यह लोग बेशर्मी से अपने कैम्पेन के नाम पर मेरा नाम धोखाधड़ी से इस्तेमाल कर लोगों को बेवक़ूफ़ बना सकते हैं, तो अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि यदि यह कहीं जीत गए तो कितना बेवक़ूफ़ बनाएंगे! झूठों से सावधान.’

विधानसभा चुनाव से जुड़ी खबरें पढ़ें India.com