सागर (मध्य प्रदेश): चमकदार वर्दी, नेम प्लेट और कंधे पर थ्री स्टार. भिखारियों के बीच बैठा एक शख्स को देख एकबारगी चकमा खा जाते हैं कि थ्री स्टार वाले इंस्पेक्टर को आखिर भिखारियों के साथ बैठने की जरूरत क्यों पड़ रही है. फिर पता चलता है कि भिखारियों के बीच बैठा शख्स भिखारी ही है. पता चलने पर लोग न सिर्फ उसे भीख देते हैं, बल्कि कई लोग उसके साथ सेल्फी, फोटो भी कराते हैं.

इस तरह हाथ लगी वर्दी
दरअसल, सागर के शनि मंदिर के बाहर भिखारियों का जमावड़ा लगता है. ये तस्वीर इसी मंदिर के बाहर की बताई जा रही है. मथुरा प्रसाद नामक ये शख्स मंदिर के बाहर भीख मांगने बैठता है. घर-परिवार नहीं है. सोना खाना यहीं होता है. मथुरा प्रसाद के अनुसार, कुछ दिन पहले एक महिला उसे पहनने के लिए कपड़ों की गठरी दे गई. मथुरा प्रसाद ने इसमें अपने लिए कपड़े देखे तो वर्दी भी निकली. मथुरा प्रसाद ने दूसरे कपड़े पहनने की बजाय वर्दी ही पहन ली और मंदिर के बाहर भीख मांगने बैठ गया.

लेडी टीचर ने प्राइमरी स्कूल को बना दिया इतना स्मार्ट, ‘सरकारी है’ फिर भी एडमिशन के लिए लगती है होड़

सोशल मीडिया पर चल रहा मजाक
मथुरा प्रसाद को जिसने भी उसे देखा, ठिठक गया. ध्यान आकर्षित होने के साथ ही उसे न सिर्फ भीख दे रहे हैं, बल्कि लोग उसके साथ फोटो भी करा रहे हैं. कुछ ही दिनों में वह ‘वर्दी वाला भिखारी’ के रूप में जानने लगे. उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. कई लोग हलके फुल्के अंदाज में भिखारी को लेकर अपनी बात कह रहे हैं. कोई पुलिस का मजाक उड़ा रहा है. इससे बेखबर मथुरा प्रसाद का कहना है कि उसकी आमदनी बढ़ गई है.

वर्दी में शिवराज के सामने जाने की इच्छा
मथुरा प्रसाद का कहना है कि ये वह कई दिन से पहने हुए हैं. सबसे अच्छा कपड़ा यही लगा इसलिए पहना. वह इसे पहन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने जाना चाहता है. वहीँ कई लोग पुलिस से भिखारी की वर्दी वापस लेने की मांग कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि इतनी लापरवाही नहीं होनी चाहिए कि पुलिस की बजाय दूसरे लोग इस तरह से वर्दी का इस्तेमाल करने लगें.