आज से भगवान शिव की पूजा का महिना, यानी कि सावन की शुरुआत हो रही है। और सावन के इस पवित्र महीने की शुरुआत होने पर राजस्थान में एक ऐसा वाक्य हुआ है, जिसे सुनने के बाद हर शिवभक्त खुश हो जाएगा। राजस्थान में एक ऐसा शिव मंदिर जहाँ है एक सांप नियमित रूप से शिवलिंग पर आता है और भक्तों को दर्शन देकर वापस जंगल की ओर चला जाता है। बता दें कि यह सिलसिला पिछले कई सालों से चलता आ रहा है, जब ये सांप हर साल सावन महीने के शुरू होने से ठीक पहले जयपुर के एक पुराने मंदिर में आकर दर्शन करता है। ये भी पढ़ें: यह है सांपों का गाँव, जहाँ हर घर में हैं एक कोबरा Also Read - Sawan 2020: महादेव को भक्तों से है बहुत लगाव, सावन के अंतिम सोमवार पर देश में सुनाई पड़ रहे हर हर महादेव, देखें भस्म आरती की तस्वीरे

Also Read - Sawan Somwar 2020 Mantra: आज से शुरू हो रहा है सावन का पावन महीना, करें इन मंत्रों का जाप

l_snake-on-shivling-shivling-578e01e44ceca_l Also Read - Sawan Mehendi Designs 2020: इस सावन के महीने में हाथों पर लगाएं मेहंदी के ये खूबसूरत डिजाइन

हर बार की तरह इस बार भी यह सांप सावन की शुरुआत के साथ ही इस शिव मंदिर में दिखाई दिया। पौ फटते ही जब इस मंदिर में शिव जी के दर्शनार्थ आए, तो नागराज पहले से ही इस मंदिर में बैठे हुए थे। इसके बाद यह समप शिवलिंग के चारों ओर चक्कर लगाकर जंगल की ओर चला गया। मंदिर के संचालक गीता ज्ञान प्रसाद ट्रस्ट के अध्यक्ष योगीराज हरपाल सिंह ने बताया कि यह सांप सावन से पहले हर साल यहाँ आता है और सावन के पहले महीने इसी मंदिर के आस-पास डेरा जमाए रहता है। ये भी पढ़ें: शिवलिंग पर अचानक आ बैठा एक सांप, विडियो हुआ वायरल

चौंकानेवाली बात तो यह है कि यह सांप कभी किसी को काटता नहीं, न ही किसी को पूजा अर्चना करने से रोकता है। इसलिए भी लोग यहाँ आने से नहीं डरते और इस सांप की वजह से भी मंदिर के प्रति लोगों की आस्था विशेष रूप से जुडी हुई है। लोग यहाँ आकर भगवान शिव के साथ-साथ इस सांप को भी पूजते हैं।