नई दिल्ली: हौसले कभी किसी दायरों में क़ैद हो कर नहीं रह सकते. रायपुर, छत्तीसगढ़ से एक ऐसी ही कहानी सामने आई है जो आज लाखों लोगों के लिए प्रेरणा बन चुकी है. मद्दा राम (Madda Ram), एक दिव्यांग बच्चा है जिसने क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को खेल के लिए अपने समर्पण और प्यार से प्रभावित किया है. मद्दा राम डॉक्टर बनने की चाहत रखते हैं. दंतेवाड़ा के मूल निवासी राम ने कहा, “मुझे क्रिकेट खेलना पसंद है. मैं सातवीं क्लास में हूं और डॉक्टर बनना चाहता हूं.”

तेंदुलकर ने 31 दिसंबर को राम का क्रिकेट खेलते हुए एक वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शेयर किया था जिसे लोगों ने बहुत पसंद किया.राम विकलांगता के कारण चल नहीं सकते हैं और तेंदुलकर द्वारा साझा किए गए वीडियो में वो मशक्कतों को झेल कर खेलते हुए नजर आ रहे हैं.

सचिन ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, ” मद्दा राम के इस प्रेरणादायक वीडियो के साथ अपने 2020 की शुरुआत करें. राम अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा है. इस बच्चे ने मुझे अभिभूत कर दिया है और उम्मीद है आपको भी कुछ ऐसा ही लगेगा”.

यही नहीं, सचिन ने राम को एक पत्र भी लिखा है जिसमें उन्होंने यह कहा कि ‘जिस तरह से आप इस खेल का आनंद ले रहे हैं उसे देखकर अच्छा लगा. खेलते रहिए.’  क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले इस खिलाड़ी ने राम को तोहफे में एक बैट और बॉल भी भेंट किया है. सचिन की इस प्रतिक्रिया से खुश राम के कोच शरद कुमार ने इस महान खिलाड़ी का धन्यवाद भी किया है.