नरसिंहपुर (मध्य प्रदेश): गश्त पर निकलीं. देखा कि कुछ लोग मंदिर में हैं. दूल्हा-दुल्हन भी हैं. लोगों के एकत्रित होने की वजह पूछी और फिर कुछ ऐसा हुआ कि लेडी सब इंस्पेक्टर ही पंडित बन कर शादी कराने बैठ गईं. मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में तो एक दूल्हा-दुल्हन के लिए जब फेरे लगवाने के लिए पंडित नहीं मिला तो एक पुलिस सब इंस्पेक्टर अंजलि अग्निहोत्री ने ही पंडित की भूमिका निभाते हुए विवाह की रस्में पूरी करा डाली. Also Read - लॉकडाउन: अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों को फोन कर पूछा, अब आगे क्या?

यह वाकया गोटेगांव तहसील के झोतेश्वर कस्बे का है. यहां श्रीनगर में रहने वाले लक्ष्मण चौधरी का विवाह नरसिंहपुर के इतवारा की ऋतु के साथ तय हुआ था. प्रशासन ने दोनों परिवारों को विवाह संपन्न कराने की अनुमति दे रखी थी, मगर उन्हें कोई पंडित नहीं मिल रहा था. यह विवाह समारोह सीमित लोगों की मौजूदगी में संपन्न होना था. Also Read - स्मृति ईरानी ने कहा- कांग्रेस देश की चुनौतियों से फायदा उठाने की कोशिश में है, वो यही कर सकती है

विवाह की रस्में पूरी करने के लिए कोई पंडित नहीं मिला. तब लोगों ने सब इंस्पेक्टर अंजली से ही पंडित की भूमिका निभाने का आग्रह किया, ऐसा इसलिए क्योंकि अंजली ब्राह्मण परिवार से नाता रखती है. वह भी सहर्ष तैयार हो गईं और वैवाहिक रस्में पूरी कराई. अंजलि पुलिस की ड्रेस में थीं और वहां मौजूद सभी लोग मास्क लगाए हुए थे. Also Read - एक मई से 3736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 50 लाख प्रवासियों ने की यात्रा, यूपी-बिहार पहुंचीं सबसे ज्यादा ट्रेनें

अंजलि का कहना है कि वह गश्त पर थीं, इसी दौरान मंदिर में लोगों को देखा. उनको प्रशासन से मिली अनुमति को परखा. बाद में उन लोगों ने पंडित न होने की समस्या बताई और शादी में सहयोग का आग्रह किया तो मैं इसलिए तैयार हो गई क्योंकि वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी का सहयोग करने का निर्देश पहले से दिया हुआ है. कुछ मंत्र आते थे उसके आधार पर वैवाहिक रस्में पूरी कराईं. जो नहीं आते थे वह गूगल से देखे और हवन कुंड न होने पर दीपक का उपयोग किया.