Subhash Chandra Bose Jayanti 2020: भारत के इतिहास में एक ऐसा नाम जिसने इस मुल्क की आज़ादी में अपना सब कुछ दे दिया. ‘तुम मुझे खून दो मैं, तुम्हें आजादी दूंगा’ जैसे नारों को बुलंद करने वाले इस स्वतंत्रता संग्राम सेनानी को दुनिया नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) के नाम से जानती है. अपने नारे और विचार से इस बहादुर ने भारत देश को बहुत बल दिया है. आज भारत के इसी लाल की 123वीं जयंती है. Also Read - कोरोना वायरस: खेल मंत्री कीरेन रीजीजू की खिलाड़ियों को सलाह, लोगों से हाथ मत मिलाओ

नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा के कटक में हुआ था. ‘नेताजी’ लड़ मरकर हर कीमत पर मां भारती को आजादी की बेड़ियों से मुक्त कराने को आतुर उग्र विचारधारा वाले देश के युवा वर्ग का चेहरा माने जाते थे. वह युवा कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहे. देश की स्वतंत्रता के इतिहास के महानायक बोस का जीवन और उनकी मृत्यु भले ही रहस्यमय मानी जाती रही हो, लेकिन उनकी देशभक्ति सदा सर्वदा असंदिग्ध और अनुकरणीय रही. Also Read - एअर इंडिया में टेक-ऑफ से पहले अब सुनाई देगा 'जय हिंद', कंपनी ने केबिन-क्रू को दिए निर्देश

जलियांवाला बाग कांड से विचलित होकर ‘नेताजी’ ने अपने जीवन को आज़ादी की लड़ाई में झोंक देने का फैसला किया और फिर ‘जय हिंद’, ‘दिल्ली चलो’ जैसे नारों के साथ उन्होंने पूरे आवाम में आज़ादी की भूख बढ़ा दी. Also Read - क्लास में अब 'जय हिन्द' कहेंगे छात्र, कांग्रेस बोली- इससे नहीं आएगा शिक्षा की गुणवत्ता में बदलाव

Subhash Chandra Bose Birth Anniversary- सुभाष चंद्र बोस की 123वीं जयंती पर पढ़िए उनके कुछ प्रेरक विचारों को (Neta Ji Subhash Chandra Bose Quotes In Hindi): 

“एक सच्चे सैनिक को सैन्य प्रशिक्षण और आध्यात्मिक प्रशिक्षण दोनों की ज़रुरत होती है”

“राष्ट्रवाद मानव जाति के उच्चतम आदर्शों ; सत्यम् , शिवम्, सुन्दरम् से प्रेरित है”

“मेरे पास एक लक्ष्य है जिसे मुझे हर हाल में पूरा करना हैं. मेरा जन्म उसी के लिए हुआ है ! मुझे नैतिक विचारों की धारा में नहीं बहना है ”

“अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना सबसे बड़ा अपराध है”

“अपने पूरे जीवन में मैंने कभी खुशामद नहीं की है. दूसरों को अच्छी लगने वाली बातें करना मुझे नहीं आता”

Subhash Chandra Bose Jayanti 2020: Subhash Chandra Bose Quotes

“जीवन की अनिश्चितता से मैं जरा भी नहीं घबराता”

“आज हमारे पास एक इच्छा होनी चाहिए ‘मरने की इच्छा’,  क्योंकि मेरा देश जी सके – एक शहीद की मौत का सामना करने की शक्ति, क्योंकि स्वतंत्रता का मार्ग शहीद के खून से प्रशस्त हो सके”

“जब आज़ाद हिंद फौज खड़ी होती हैं तो वो ग्रेनाइट की दीवार की तरह होती हैं ; जब आज़ाद हिंद फौज मार्च करती है तो स्टीमर की तरह होती हैं ”

“याद रखें कि घोर अपराध अन्याय और गलत के साथ समझौता करना है. शाश्वत नियम याद रखें: यदि आप प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको अवश्य देना चाहिए”

“एक व्यक्ति एक विचार के लिए मर सकता है, लेकिन वह विचार उसकी मृत्यु के बाद, एक हजार जन्मों में अवतार लेगा”