नई दिल्लीः कोरोना संक्रमण के प्रसार रोकने के लिए देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी. 24 मार्च से जारी इस लॉकडाउन के बीच कई ऐसी घटनाएं हुईं, जिसने हर किसी को गमगीन कर दिया. चाहे प्रवासी मजदूरों का पैदल बड़े शहरों से पलायन हो या फिर ट्रेन, ट्रक हादसे या भूख और गरीबी से परेशान लोग. कई ऐसी तस्वीरें आईं, जिसने लोगों की आंखें नम कर दीं. इस बीच एक और ऐसी ही खबर सामने आई है, जहां एक युवक ने भूख और गरीबी से परेशान अपने परिवार को घर तक पहुंचाने के लिए चोरी का सहारा लिया. Also Read - प्रतियोगिताएं बंद होने से मुफलिसी में दिन गुजारने को मजबूर क्रिकेट स्कोरर,लगाई मदद की गुहार

घटना तमिलनाडु के कोयंबटूर की है, जहां चाय की दुकान पर काम करने वाला शख्स लॉकडाउन के बीच गरीबी से काफी परेशान हो गया. अपने परिवार को भुखमरी से बचाने के लिए युवक ने पहले तो एक बाइक चुराई और फिर अपने बीवी-बच्चों को उस बाइक से लेकर घर पहुंचा. लेकिन, जैसे ही युवक का काम हो गया, उसने करीब दो हफ्ते बाद बाइक को पार्सल के जरिए बाइक के मालिक के पास वापस भेज दिया. Also Read - पीएम मोदी ने चीन या गलवान में बिगड़ी स्थिति का नहीं किया ज़िक्र, लोगों को थी कुछ ऐसी उम्मीद

बाइक के मालिक एक व्यवसायी हैं, जो इंजीनियरिंग टूल बनाने की यूनिट चलाते हैं. बाइक के मालिक सुरेश कुमार को पार्सल वाले ने फोन कर बाइक की सूचना दी. जिस पर सुरेश हैरान रह गए. जहां उन्हें अपनी बाइक मिलने की खुशी हुई तो वहीं पे ऑन डिलेवरी के ऑप्शन से थोड़ी निराशा हुई. दरअसल, बाइक भेजने वाले शख्स ने आर्थिक तंगी के चलते पार्सल के पैसे नहीं दिए थे, जिसके चलते सुरेश कुमार को खुद ही पार्सल के पैसे देने पड़े. Also Read - PM Narendra Modi Speech: 80 करोड़ लोगों को राशन देकर दुनिया को चौंकाया, और 5 महीने मुफ्त मिलेगा अनाज, पढ़ें PM मोदी की स्पीच की मुख्य बातें

दरअसल, शख्स की चोरी सीसीटीवी के जरिए पकड़ी गई थी. सीसीटीवी के जरिए पता चला कि शख्स चाय की दुकान पर काम करता है, जिसके बाद इसकी शिकायत पुलिस स्टेशन में की गई और शख्स की तलाश शुरू हुई, लेकिन खास बात यह रही कि, बाइक चोरी करने वाले शख्स ने खुद ही बाइक वापस लौटा दी.