कोरोनावायरस महामारी के चलते हजारों लोगों की नौकरियां चली गई हैं. लोग कमाने के लिए क्या कुछ नहीं कर रहे. ऐसी ही एक और तस्वीर सामने आई है. Also Read - Coronavirus: कोविड-19 वायरस के बदलाव को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने दिया बड़ा बयान, कहा- अब वायरस के संक्रमण...

ये फोटो है एक पूर्व शिक्षक सुरेश गोठवाल (43) की. सुरेश गोठवाल जयपुर की सड़कों पर पेंटिंग बेचने पर मजबूर हो गए हैं. Also Read - कोरोना के टीके को लेकर आई अच्छी खबर, पुणे में शुरू होगा ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के तीसरा चरण का ट्रायल

Also Read - 100 Year old women: 100 साल की माई हांडिक ने दी कोरोना को मात, इस जज्बे को सलाम

गोठवाल ने बताया कि स्कूल मैनेजमेंट उनके पढ़ाने के तरीके से संतुष्ट नहीं थे, जिसके चलते दो महीने पहले उनकी नौकरी चली गई, क्योंकि बच्चों के साथ वह काफी ‘नरमी’ से पेश आते थे.

उन्होंने कहा, “मैं जब बच्चों से बात करता था, तो मुझे ‘प्लीज’ बोलने की आदत थी, स्कूल मैनेजमेंट ने मुझे नौकरी से निकाल दिया और लॉकडाउन से ठीक पहले मैं बेरोजगार हो गया. पिछले 6 महीनों में मेरे सभी बचत के पैसे भी खत्म हो गए. इसलिए सोमवार से मैंने जवाहर लाल केंद्र के सामने पेंटिंग बेचना शुरू कर दिया.”

सुरेश गोठवाल घर में एकलौते कमाई करने वाले व्यक्ति हैं.
(एजेंसी से इनपुट)