आज कल के भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में नींद बहुत ही जरुरी है। जभी छुट्टी मिलती है तब लोग भरपुर सोने का मज़ा लेते हैं। मगर दुनिया में एक ऐसा गांव है जहां आंख बंद करने से भी लोग डरते हैं। एक ऐसा ही गांव है कलाची जो की कजाकिस्तान में स्तिथ है। यहां कब किसे नींद आ जाए किसी को पता नहीं चलता। आपको सबसे ज्यादा यह बात हैरान कर देगी की सोकर उठने के बाद इंसान को कोई बात याद नहीं रहती की वह कब सोया था या फिर कितने दिन बाद जाग रहा है। चलिए आपको बताते है आखिर क्यों इस गांव के लोगों को आती है इतनी नींद।  यह भी पढ़ें: OMG! इस घड़ी में छुपा है मौत का राज़ Also Read - Unknown Pneumonia Virus: कोरोना से नहीं इस नई बीमारी से टेंशन में है चीन, कजाकिस्तान में रहने वाले अपने नागरिकों को किया सावधान

Also Read - भीषण हादसा, 100 लोगों से भरा विमान उड़ान भरते समय बिल्डिंग से टकराया, कई की मौत

इस अजब घटना की वजह यह अजीबो गरीब घटना सुर्खिओ में है। आपको बता दें की इस गांव में घुसने के बाद कब किस को आ जाएं नींद कभी किसी को पता नहीं रहता। कजाकिस्तान के इस कलाची गांव में लोग 24 से लेकर 56 घंटे तक सोते है। आपको एक हैरान करने वाली बात बताएं, यहां लोग सोकर उठने के बाद कई दिनों तक सोते भी नहीं और साथ ही उन्हें कोई भी बात याद भी नहीं रहती। कई बार ऐसा भी हुआ है की लोग उतने के बाद अपने भविष्य की बाते करने लगते है और कुछ अपने भूतकाल की बातों को बताने लगते हैं। आपको बातां दें की सोकर उठने के बाद लोग अजीबो गरीब बातें भी करते है। बहुत से लोगो का कहना रहता है की उन्होंने पारियां देखि तो कई मरे हुए लोगों को मिलकर आते हैं। Also Read - पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से पहले भारत को झटका, चोट के कारण देश का ये शीर्ष खिलाड़ी हुआ बाहर

आपको लगता होगा की यह घटना काफी पुरानी होगी, और इस के कारण लोग बहुत सालो से इस अजीबो गरीब नींद आने कि बीमारी से परेशान होंगे। मगर आपको बता दें की नींद आने वाली बीमारी या फिर अजीब तकलीफ लोग 2013 से सैह रहे हैं। यहां इस अजीब घटना के कारणों का पता लगा रहे है वैज्ञानिक।